भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और हैदराबाद क्रिकेट संघ (एचसीए) के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मोहम्मद अजहरूद्दीन  (Mohammad Azharuddin) 23 अक्टूबर को मुंबई में बीसीसीआई की आमसभा की सालाना बैठक में अपनी प्रदेश इकाई का प्रतिनिधित्व करेंगे.

‘हमें अपने देश में इस तरह की गर्मी में खेलने का अनुभव नहीं है’

शुरुआती रपटों में कहा गया था कि हैदराबाद का प्रतिनिधित्व पूर्व अध्यक्ष शिवलाल यादव करेंगे जो तमिलनाडु के दिग्गज एन श्रीनिवासन के करीबी माने जाते हैं. एचसीए ने हालांकि तय किया कि उसके प्रतिनिधि अजहर होंगे.

अजहर को हाल में एचसीए का अध्यक्ष चुना गया है. उन्होंने इससे पहले वर्ष 2017 में भी अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरा था, लेकिन तब उनका नामांकन इस आधार पर निरस्त कर दिया गया था, क्योंकि वे बीसीसीआई की ओर से लगाए गए आजीवन बैन को हटाने के संबंध में कोई सबूत नहीं दे पाए थे. ये बैन उन पर कथिततौर पर मैच फिक्सिंग में शामिल होने की वजह से लगा था.

56 साल के अजहर ने भारत की ओर से 99 टेस्ट और 334 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं. इस दौरान टेस्ट में उन्होंने 6,215 और वनडे में 9,378 रन बनाए हैं. अजहर ने 47 टेस्ट और 174 वनडे मैचों में भारत की कप्‍तानी की. लेकिन मैच फिक्सिंग मामले में नाम आने के बाद बीसीसीआई ने उन पर आजीवन बैन लगा दिया था. हालांकि साल 2012 में आंध्रप्रदेश हाईकोर्ट ने उनपर लगे बैन को हटा दिया था.

महिला हॉकी टीम का इंग्लैंड दौरा: ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ भारत ड्रॉ खेलने पर मजबूर

अजहर को चुनाव में 147-73 की विशाल बढ़त के साथ एचसीए का अध्यक्ष चुना गया है. इस पूर्व क्रिकेटर की क्रिकेट के बाद ये नहीं प्रशासनिक पारी है.