पाकिस्तान क्रिकेट टीम के अनुभवी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने अपने ऑलराउंड खेल की बदौलत कई बार टीम को जीत दिलाई है. 38 वर्षीय हफीज को लंबे समय बाद बांग्लादेश के खिलाफ 24 जनवरी से लाहौर में शुरू हो रही पाकिस्तान की टी-20 सीरीज की टीम में चुना गया है. Also Read - Pakistan vs South Africa, 1st Test: जानें कब और कहां देखें- पाकिस्तान-साउथ अफ्रीका मैच की Live Streaming और Live Telecast

जो रूट के विकेट का जश्न मनाने पर रबाडा को पड़ी दिग्गजों का फटकार Also Read - वाहब रियाज से कार रेस के चक्‍कर में खड़े ट्रक से टकराई Shoaib Malik की कार !

हफीज ने शुक्रवार को कहा कि वह इस साल के अंत में होने वाले टी-20 विश्व कप के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे. हफीज पाकिस्तान के लिए तीनों प्रारूपों में बतौर शीर्ष क्रम बल्लेबाज अहम खिलाड़ियों में से एक रहे हैं. उन्होंने 2003 में इंग्लैंड दौरे के दौरान अपना पदार्पण किया था. Also Read - Year Ender 2020: 40 साल के पाक क्रिकेटर ने KL Rahul को पछाड़ नंबर वन से किया साल का समापन, टॉप-5 में सिर्फ 1 भारतीय

हफीज ने मीडिया से कहा, ‘पाकिस्तान के लिए खेलना सम्मान की तरह रहा है. मैं टी-20 विश्व कप में खेलना चाहता हूं और फिर पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय टीम से संन्यास लेना चाता हूं.’

हफीज ने 55 टेस्ट खेलने के बाद दिसंबर 2018 में टेस्ट मैचों से संन्यास ले लिया था. वह सीमित ओवरों के प्रारूपों में भी काफी सफल रहे जिसमें उन्होंने 218 वनडे में 6,614 रन जुटाए और 139 विकेट चटकाए.

Ind vs Aus : धवन 4 रन से शतक चूके, केएल राहुल-कोहली के अर्धशतक, ऑस्ट्रेलिया केे सामने 341 रन का लक्ष्य

बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए कई युवा खिलाड़ियों को टीम से बाहर रखा गया है. ऐसे में चर्चा तेज हो गई है कि आखिर क्यों युवाओं को टीम से बाहर रखा गया है जबकि हफीज और सीनियर शोएब मलिक को शामिल किया गया है.