नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने सोमवार को कहा है कि स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के न होने से ऑस्ट्रेलियाई टीम कमजोर है, लेकिन फिर भी भारत को ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर जीतने के लिए एक ठोस रणनीति की जरूरत है. कप्तान स्मिथ और उप कप्तान वॉर्नर पर केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में बॉल टेम्परिंग के कारण एक साल का प्रतिबंध लगा है.

ऐसी खबरें है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) इन दोनों पर लगाए गए प्रतिबंध को हटाने की आस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स संघ (एसीए) की मांग को मान सकता है. शमी ने यहां बंगाल और मध्य प्रदेश के बीच रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-बी के मैच के इतर संवाददाताओं से कहा, “अगर वो दो नहीं खेलते हैं तो ऑस्ट्रेलियाई टीम निश्चित तौर पर कमजोर होगी, लेकिन आखिर में आपको अपनी रणनीति और मजबूती पर टिके रहना पड़ेगा.”

राखी सावंत को विदेशी पहलवान रिंग में उठा-उठा के पटका, महंगी पड़ी चुनौती – वायरल वीडियो

स्मिथ और वॉर्नर के अलावा इस विवाद में बल्लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट पर भी प्रतिबंध लगा है. हालांकि बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध है. इस मामले में सीए ने जांच के लिए स्वतंत्र समिति का गठन किया था. समिति ने अपनी रिपोर्ट में इस विवाद के लिए टीम की हर हाल में जीत की मनोदशा को कारण बताया था. रिपोर्ट के आने के बाद से एसीए ने सीए पर इन खिलाड़ियों से प्रतिबंध हटाने के लिए काफी दबाव बनाया है.

कुलदीप यादव करियर की बेस्ट रैकिंग पर, भुवी-बुमराह को भी मिला फायदा

ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम की तैयारी पर पूछने पर शमी ने कहा, “एक तेज गेंदबाजी इकाई के तौर पर हमने इंग्लैंड में काफी अच्छा किया था. हम ऑस्ट्रेलिया दौरे की तैयारी कर रहे हैं और कई वीडियो देख रहे हैं. हमारी कोशिश सीरीज पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान देने की है क्योंकि हमारे विपक्षी मजबूत हैं. हम लाइन और लेंथ सही रखने पर काम करेंगे.” ऑस्ट्रेलिया दौर पर पहला टेस्ट मैच छह दिसंबर को एडिलेड ओवल में खेला जाएगा.