टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री का कहना है कि तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ऑस्ट्रेलिया दौरे की खोज हैं। शास्त्री ने ट्वीट किया, “गेंदबाजी अटैक की जिम्मेदारी सिराज ने जिस तरह से निभाई, उस लिहाज से वो आस्ट्रेलिया दौरे पर भारत के लिए खोज हैं। सिराज ने अपने पिता को खोया, नस्लीय टिप्पणियां झेलीं लेकिन इन सबके बावजूद वो टीम की धुरी बने रहे।”Also Read - Shoaib Akhtar को अंदेशा- बिखरेगी भारतीय टीम, Ravi Shastri से पूछा- फिर बनोगे कोच!

सिराज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आयोजित चार मैचों की टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल 13 विकेट हासिल किए। ब्रिस्बेन में खेले गए निर्णायक टेस्ट में सिराज ने एक पारी में पांच विकेट हासिल किए। सिराज एवं दूसरे युवा भारतीयों के शानदार प्रदर्शन के बूते भारतीय टीम 2-1 से सीरीज अपने नाम कर इतिहास रचने में सफल रही। Also Read - अगर Virat Kohli ने मानी Ravi Shastri की यह सलाह तो इस बार IPL 2022 रहेंगे बाहर

ऑस्ट्रेलिया से लौटने के बाद सिराज गुरुवार को अपने घर हैदराबाद पहुंचे। घर पहुंचकर सिराज सबसे पहले अपने पिता की कब्र पर गए, जिनका निधन उस समय हो गया था, जब सिराज ऑस्ट्रेलिया में थे। Also Read - Jasprit Bumrah को कप्‍तान बनाए जाने का रवि शास्‍त्री ने किया विरोध, तेज गेंदबाज नहीं कर सकता ये काम

मैं गेंदबाजी ऑलराउंडर हूं, मेरे अंदर बल्लेबाजी करने की क्षमता: शार्दुल ठाकुर

कठिन क्वारंटीन नियमों के कारण सिराज अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए स्वदेश नहीं आ सके थे। पूरी सीरीज के दौरान सिराज ने हर अच्छे पल के साथ अपने पिता को याद किया।

ब्रिस्बेन में खेले गए अंतिम टेस्ट मैच की शुरुआत से पहले जब राष्ट्रगान बजा था तब वह गमगीन हो गए थे। इसी मैच में सिराज ने जब पांच विकेट लिए तब भी उन्होंने हाथ ऊपर करते हुए अपने पिता को याद किया।