नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जाने वाली चार टेस्ट मैचों की सीरीज के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे. मोर्कल का इंटरनेशनल करियर शानदार रहा है. उन्होंने 83 टेस्ट, 117 वनडे और 44 इंटरनेशनल टी-20 मैच खेले हैं. मोर्कल ने संन्यास के बारे में बताते हुए कहा कि यह उनके लिए बहुत ही कठिन निर्णय है, लेकिन यह संन्यास का सही समय है.

मोर्कल ने कहा, यह बहुत ही कठिन निर्णय है, लेकिन मुझे लगता है कि मेरे जिंदगी का एक नया अध्याय शुरू करने के लिए सही समय है. मेरे पास परिवार है, जिसे मेरी जरूरत है. इसलिए मैंने उनको ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है. मुझे लगता है कि यह निर्णय हमारे लिए फायदेमंद साबित होगा.

IPL2018: पंजाब के कप्तान बने अश्विन, कहा मेरे लिए यह सम्मान की बात

उन्होंने टीम का जिक्र करते हुए कह, मुझे इस बात कि खुशी है कि मैंने टीम की जर्सी पहनकर हर लम्हे को इन्जॉय किया. मैं सभी साथियों का शुक्रगुजार हूं. मैं क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका, अपने परिवार और दोस्तों का भी शुक्रगुजार हूं जिन्होंने पिछले कई सालों में मेरा साथ दिया. मैं इस बात को अच्छी तरह समझता हूं कि मेरे अंदर अभी काफी क्रिकेट बाकी है. फिलहाल मेरा पूरा ध्यान आने वाली सीरीज पर है.

गौरतलब है कि हाल ही में खत्म हुए भारत के खिलाफ टेस्ट और वनडे सीरीज में मोर्कल ने दमदार प्रदर्शन किया. उन्होंने 3 टेस्ट मैचों में 13 विकेट और 5 वनडे मुकाबलों में 2 विकेट झटके.

खुलासा: चैपल के टीम इंडिया का कोच बनने पर खुश नहीं थे गावस्कर, पढ़ें गांगुली ने कैसे की मदद

बता दें कि मोर्कल ने 83 टेस्ट मैचों की 154 पारियों में 294 विकेट झटके हैं. इस दौरान उन्होंने 7 बार पांच या इससे ज्यादा विकेट हासिल किए हैं. उन्होंने 117 वनडे मैचों की 114 पारियों में 188 विकेट चटकाये हैं. वनडे में मॉर्कल का सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड 21 रन देकर 5 विकेट हासिल करना रहा. इस दिग्गज खिलाड़ी ने 44 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 47 विकेट अपने नाम किए.