नई दिल्ली. राजस्थान के गढ़ में कोलकाता की टीम की शानदार जीत हई. ये जीत उसके लिए यादगार रहेगी. लेकिन कोलकाता की टीम के ही गेंदबाज सुनील नरेन इस जीत को याद रखने के बजाए भूलना चाहेंगे. राजस्थान पर जीत के साथ उनकी फ्रेंचाईजी कोलकाता IPL में लक्ष्य का पीछा करते हुए 50वीं जीत दर्ज करने वाली पहली टीम जरूर बन गई हो लेकिन इसी मुकाबले में सुनील नरे के नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है. वो तो शुक्र है कि कोलकाता ने जयपुर का किला फतह कर लिया. अगर ऐसा नहीं हुआ होता तो शायद आज नरेन इस टीम के सबसे बड़े विलेन होते. नरेन के खाते में आखिर वो कौन सा रिकॉर्ड दर्ज हुआ है जिसकी खातिर वो इस दमदार जीत को भूलना चाहेंगे अब जरा वो देख लीजिए. दरअसल, ये मुकाबला नरेन के IPL करियर का वो मैच बन गया है जिसमें उन्होंने सबसे ज्यादा रन लुटाए हैं.

‘खर्चीले’ नरेन 

जयपुर में राजस्थान के खिलाफ खेले मुकाबले में सुनील नरेन ने 4 ओवर में 48 रन लुटाए. ये IPL के किसी मैच में नरेन का सबसे खराब प्रदर्शन है. इससे पहले उन्होंने साल 2014 में पंजाब के खिलाफ खेले मैच में 46 रन दिए थे जबकि साल 2016 में बैंगलोर के खिलाफ मुकाबले में 45 रन लुटाए थे.

3 पर भारी पड़े अकेले नरेन

राजस्थान के खिलाफ मैच में कोलकाता ने 4 स्पिनरों को आजमाया. जहां बाकी 3 स्पिनर्स ने मिलकर10 ओवरों में 52 रन दिए और 4 विकेट भी चटकाए वहीं अकेले नरेन ने इस मैच में 4 ओवर में 12 की औसत से 48 रन दिए और कोई विकेट भी नहीं लिया.

राजस्थान पर जीत के साथ कोलकाता ने IPL में बनाया खास रिकॉर्ड

राजस्थान पर जीत के साथ कोलकाता ने IPL में बनाया खास रिकॉर्ड

जयपुर में राजस्थान के बल्लेबाजों का नरेन पर प्रहार उनके पहले ही ओवर से शुरू हो गया. नरेन पर हल्ला बोलने की शुरुआत की राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने, जिन्होंने उनके पहले ही ओवर में लगातार 4 चौकों के साथ 18 रन ठोके. नरेन के दूसरे ओवर में 10 रन बने. अपने तीसरे ओवर में नरे थोड़े इकॉनोमीकल रहे और 6 गेंदों पर सिर्फ 6 रन दिए. लेकिन, मैंच में अपने आखिरी ओवर में उन्होंने एक छक्के और एक चौके के दम पर 14 रन लुटा दिए.

शुरुआती मैचों में रहे इकॉनोमिकल

अब जरा इस मुकाबले से पहले IPL-11 के 3 मैचों में नरेन के प्रदर्शन पर गौर कीजिए. पहले मैच में नरेन ने जहां 4 ओवर में 17 रन देकर 1 विकेट लिया वहीं दूसरे मैच में भी उन्होंने 4 ओवर में 17 रन ही दिए और 2 विकेट हासिल किए. वहीं, तीसरे मुकाबले में नरेन ने 3 ओवर की गेंदबाजी की और 18 रन देकर 3 विकेट अपने नाम किए.

साफ है कि राजस्थान के खिलाफ मैच में सुनील नरेन का दिन ही खराब था. वो तो गनीमत है कि टीम को जीत मिल गई नहीं तो हार का ठीकरा उन्हीं की गेंदबाजी पर भी फूट सकता था.