नई दिल्ली : एशिया कप 2018 के पहले सुपर फोर मैच में टीम इंडिया ने बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया. रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम टूर्नामेंट में लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही है. बांग्लादेश के खिलाफ जीत में पूरे टीम का योगदान रहा. लेकिन इस दौरान दिग्गज खिलाड़ी महेन्द्र सिंह धोनी ने रोहित की काफी मदद की. धोनी की बदलौत ही गेंदबाजों ने कई अहम विकेट हासिल किए. इनमें एक विकेट शाकिब अल हसन का भी था. रोहित ने धोनी की सलाह मानते हुए फील्डिंग में बदलाव किया था. उन्हें इसका फायदा मिला. Also Read - कोरोना से जंग में मिला अनिल कुंबले का साथ, प्रधानमंत्री राहत कोश में दिया गुप्‍त दान

दरअसल टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी बांग्लादेश की काफी खराब शुरुआत रही. टीम के ओपनर खिलाड़ी लिटन दास और निजमुल हुसैन 7-7 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद शाकिब अल हसन बैटिंग करने आए. रोहित ने 10वां ओवर रविन्द्र जडेजा को दिया. इस ओवर की तीसरी गेंद तक शिखर धवन स्लिप में खड़े थे. लेकिन तभी धोनी ने रोहित को सलाह दी कि धवन को स्क्वेयर लेग में खड़ा करो. रोहित ने धोनी की बात मानते हुए धवन को स्क्वेयर लेग में भेज दिया. नजीता यह निकला की जडेजा की अगली ही गेंद पर धवन ने शाकिब का कैच लपक लिया. Also Read - कोरोना के खिलाफ जंग में रोहित शर्मा ने दिया बड़ा योगदान, कहा- देश को फिर से पैरों पर खड़ा करना है

INDvsBAN: रविन्द्र जडेजा के लिए अंपायर से भिड़े रोहित शर्मा, VIDEO में देखें पूरा मामला Also Read - मौजूदा खिलाड़ियों में रोहित शर्मा के पास सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटिंग दिमाग : वसीम जाफर

इस तरह धोनी और रोहित की रणनीति सफल रही. शाकिब 12 गेंदों में 3 चौकों की मदद से 17 रन बनाकर आउट हो गए. धोनी ने इसके बाद भी अपना कमाल दिखया. उन्होंने कई बार स्टम्प का प्रयास भी किया. हालांकि वह सफल नहीं हो पाया. इसके उन्होंने मोसादेक हुसैन का कैच भी पकड़ा. यह काफी अच्छा कैचा था और इसकी सराहना भी की गई.

देखें वीडियो :

INDvsBAN: जडेजा ने जाल बिछाया और धोनी ने फंसाया, VIDEO में देखें खतरनाक गेंदबाजी का नजारा

गौरतलब है कि एशिय कप के पहले सुपर फोर मैच में बांग्लादेश ने पहले बैटिंग करते हुए 173 रन बनाए. इसके जवाब में टीम इंडिया ने 36.2 ओवर में 3 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. भारतीय टीम के लिए रोहित ने 83 रनों की नाबाद पारी खेली. उन्होंने 5 चौकों और 3 छक्कों की मदद से ये रन बनाए. इस तरह भारत ने एशिया कप में लगातार तीसरी जीत हासिल की.