नई दिल्ली : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ गुरुवार को हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मैच में महेंद्र सिंह धोनी का अम्पायर के साथ विवाद हुआ जिसे लेकर पूर्व खिलाड़ियों ने नाराजगी जाहिर की है. विवाद के कारण धोनी पर जुर्माना भी लगाया गया और उनकी 50 प्रतिशत मैच फीस काट ली गई. Also Read - Sam Curran ने किया इशारा, CSK फाइनल में पहुंचा तो छोड़ सकते हैं राष्‍ट्रीय टीम का भी मैच

चेन्नई की पारी के आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर अम्पायर उल्हास गांधे ने बेन स्टोक्स की फुल टॉस गेंद को बीमर मानकर नो बॉल दिया लेकिन तुंरत ही वह इससे मुकर गए. इसके बाद, जडेजा अम्पायर से बात करने लगे. तब तक धोनी सीएसके के डगआउट से उठकर मैदान में आ गए. वह काफी गुस्से में दिख रहे थे. उन्होंने दोनों मैदानी अम्पायरों से बहस भी की, लेकिन दोनों अम्पायर अपने फैसले पर कायम रहे और चेन्नई को नो बॉल नहीं मिली. हालांकि, चेन्नई यह मैच चार विकेट से जीतने में कामयाब रहा. Also Read - Chennai Super Kings Jersey IPL 2021: अब नए अंदाज में दिखेगी एमएस धोनी की सेना, चेन्नई सुपर किंग्स की जर्सी में हुआ ये खास बदलाव

धोनी को मिली अंपायर से भिड़ने की सजा, जयपुर में गरमा गए थे ‘कैप्टन कूल’ Also Read - Rishabh Pantकिरण मोरे की बड़ी भविष्‍यवाणी, Rishabh Pant एक दिन MS Dhoni का रिकॉर्ड भी तोड़ देगा

इंग्लैंड के कप्तान माइकल वॉन ने ट्वीट किया, “यह क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं है. एक कप्तान को डगआउट से बाहर आकर पिच पर नहीं पहुंचना चाहिए.”

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर माइकल स्लेटर ने कहा, “मैं नहीं कह सकता कि मैंने ऐसा होते हुए पहले कभी देखा है. आप कभी भी कप्तान को पिच पर आकर अम्पायर से चर्चा करते हुए नहीं देखेंगे. अविश्वसनीय.”

कालिस का वर्ल्ड कप पर बयान, कार्तिक को टीम इंडिया में शामिल न करना होगी बेवकूफी

पूर्व भारतीय विकेटकीपर दीप दासगुप्ता ने भी स्लेटर की बातों को दोहराते हुए कहा, “उनके पास चौथे अम्पायर और मैच रैफरी से बात करने का पूरा अधिकार है, लेकिन मैच के बीच में इस तरह से मैदान पर आना सही नहीं है. आपके साथ गलत हुआ है, यह सोचकर आप वो चीजें नहीं कर सकते जिसकी आपको आज्ञा न हो.”