नई दिल्ली : महेंद्र सिंह धोनी ने रविवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ 48 गेंदों पर नाबाद 84 रनों की पारी खेलकर चेन्नई सुपर किंग्स को लगभग जीत दिला दी थी. एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में 162 रनों का पीछा करते हुए मेहमान टीम निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 160 रन ही बना पाई और एक रन से मैच हार गई.

आखिरी दो ओवरों में चेन्नई को जीत के लिए 66 रनों की दरकार थी. धोनी ने 19वें ओवर में तेजी से रन बनाए, लेकिन एक रन नहीं लिया और स्ट्राइक अपने पास रखी. मैच के बाद इस पर धोनी ने कहा, “मैंने कई गेंदें खेली थी और हमें बहुत रन बनाने थे इसलिए मैं जोखिम उठा सकता था. मैं समझता हूं कि 10 या 12 गेंदों पर हमें 40 या 36 के करीब रन चाहिए थे जिसका मतलब है हमें बाउंड्री की जरूरत थी.”

मुंबई इंडियन्स ने खिलाड़ियों को दी 4 दिन की छुट्टी, पढ़ें क्या है वजह

धोनी ने कहा, “हां, आप अभी गिन सकते हैं कि दो रन वहां, एक रन यहां और हम मैच जीत जाते क्योंकि हम एक रन से मुकाबला हारे, लेकिन उसी समय आपको यह सोचना होगा कि अगर कुछ गेंदे खाली निकल जातीं तो क्या होता. क्या हमें वह अतिरिक्त बाउंड्री मिल पाती या नहीं.” आखिरी ओवर में वे उमेश यादव के खिलाफ 24 रन बनाने में कमायाब रहे थे.