नई दिल्ली : टीम इंडिया के लिए अच्छी बैटिंग करते हुए महेन्द्र सिंह धोनी ने सिडनी में अर्धशतक जड़ा. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बैटिंग करते हुए 3 चौकों और एक छक्के की मदद से 51 रन बनाए. धोनी ने वनडे क्रिकेट में करीब एक साल के बाद अर्धशतक लगाया. हालांकि सिडनी में उनका यह अर्धशतकी टीम इंडिया के लिए काफी अहम है. उन्होंने रोहित शर्मा के साथ 137 रन की साझेदारी की. जब भारत के शुरुआती तीन विकेट महज 4 रन पर गिर गए, तब धोनी ने रोहित के साथ मिलकर टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाया.

दरअसल धोनी ने सिडनी वनडे में भारत के तीन विकेट गिरने के बाद रोहित के साथ पारी को संभाला. उन्होंने 96 गेंदों का सामना करते हुए 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 51 रन बनाए. धोनी ने रोहित के साथ मिलकर 137 रन की साझेदारी निभाई. इससे भारतीय टीम शुरुआती झटकों के बाद संभली. धोनी के लिए अहम यह रहा कि उन्होंने 14 वनडे पारियों के बाद अर्धशतक लगा. इस दौरान 13 महीने का वक्त बीत गया.

धोनी ने सिडनी वनडे से पहले आखिरी अर्धशतक श्रीलंका के खिलाफ धर्मशाला में लगाया था. दिसंबर 2017 में खेले गए इस मुकाबले में उन्होंने 87 गेंदों का सामना करते हुए 65 रन बनाए थे, जिसमें 10 चौके और 2 छक्के शामिल थे. इसके बाद वो साल 2018 में एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके. लेकिन अब 2019 की शुरुआत में ही धोनी ने अर्धशतक लगाकर शानदार वापसी की. वर्ल्ड कप से ठीक पहले धोनी की यह पारी टीम इंडिया के लिए अहम रही.

सिडनी में भुवनेश्वर ने ठोका वनडे ‘शतक’, ऑस्ट्रेलिया पर जीत की धमक

देखें वीडियो :

धोनी ने 1 रन बनाकर पूरे किए 10000 रन, ऐसा करने वाले 5वें भारतीय

गौरतलब है कि धोनी और रोहित के बीच हुई साझेदारी ने एक खास उपलब्धि हासिल कर ली. दरअसल यह साझेदारी भारत की ओर से ऑस्ट्रेलिया में खेली गई चौथी सबसे बड़ी साझेदारी है. ऑस्ट्रेलिया में भारत की ओर से सबसे बड़ी वनडे साझेदारी 213 रन की है. यह वीवीएस लक्ष्मण और युवराज सिंह के बीच 2004 में खेली गई थी. जब कि 2016 में रोहित और धवन ने 212 रन की वनडे साझेदारी निभाई थी. इसके बाद रोहित और विराट कोहली ने 2016 में 207 रन की साझेदारी निभाई. इस तरह सिडनी में धोनी और रोहित की साझेदारी चौथे स्थान पर है.