नई दिल्ली : टीम इंडिया ने एडिलेड में खेले गए रोमांचक मैच में ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हरा दिया. भारत की जीत की में कप्तान विराट कोहली के शतक की अहम भूमिका रही. लेकिन इससे बड़ी बात यह रही कि महेन्द्र सिंह धोनी ने जीत दिलायी. धोनी ने मैच फिनिशर की भूमिका निभाते हुए नाबाद 55 रन बनाए. टीम इंडिया को जब आखिरी 7 रनों की जरूरत थी तब धोनी ने एक छक्का जड़ दिया, जिसके बाद स्टेडियम का माहौल ही बदल गया. इस छक्के के बाद दर्शकों के उत्साह का ठिकाना नहीं रहा. अंत में धोनी ने सिंगल लेकर जीत दिला दी.

दरअसल भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए 7 रनों की जरूरत थी. स्ट्राइक पर धोनी थे और ऑस्ट्रेलिया की ओर से जैसन बेहरेनडॉर्फ गेंदबाजी करने आए. बेहरेनडॉर्फ के पहली ही गेंद पर धोनी ने अपने स्टाइल में छक्का जड़ दिया. धोनी के बल्ले से लम्बे वक्त के बाद निकले इस छक्के दर्शकों के उत्साह को दोगुना कर दिया. एडिलेड के स्टेडियम का माहौल ही बदल गया. टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ी ने छक्का जड़ने के बाद सिंगल लेकर भारत को जीत दिला दी.

भारत ने कार्तिक को दी बड़ी जिम्मेदारी, एडिलेड वनडे के प्रदर्शन से खुश हुई टीम

देखें वीडियो :

BCCI सीईओ ने पांड्या-राहुल से की बात, विवाद के बारे में रखा अपना पक्ष

बता दें कि धोनी ने साल 2018 में एक भी वनडे अर्धशतक नहीं लगाया था, जिसके बाद आलोचक पर उन पर हावी हो गए थे. लेकिन उन्होंने 2019 की शुरुआत में ही शानदार पारियां खेलकर सबको चुप करा दिया. धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के पहले वनडे में शानदार अर्धशतक जड़ा. जबकि दूसरे वनडे में मैच फिनिशर की भूमिका निभाते हुए भारत को जीत दिलायी.