एमएस धोनी ने रविवार को श्रीलंका के खिलाफ पांचवें वनडे में अकीला धनंजय को स्टम्पिंग करते हुए वनडे में 100 स्टम्पिंग पूरी की. इसके साथ ही धोनी दुनिया में सबसे ज्यादा स्टम्पिंग करने वाले विकेटकीपर बन गए. धोनी ने सबसे ज्यादा स्टम्पिंग के के मामले में श्रीलंका के पूर्व विकेटकीपर कुमार संगकारा को पीछे छोड़ा. धोनी ने इसी सीरीज के दूसरे वनडे में संगकारा के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की थी. Also Read - India vs Australia 2020-21: Sachin Tendulkar और MS Dhoni के इस रिकॉर्ड की बराबरी करना चाहेंगे Virat Kohli

धोनी ने पांचवें वनडे में श्रीलंकाई पारी के 45वें ओवर की आखिरी गेंद पर युजवेंद्र चाहल की गेंद पर अकीला धनंजय को स्टम्पिंग करते हुए वनडे में सबसे ज्यादा स्टम्पिंग का विश्व रिकॉर्ड बनाया. धोनी वनडे में 100 स्टम्पिंग करने वाले दुनिया के पहले विकेटकीपर बन गए हैं. धोनी ने अपना 301वां वनडे खेलते हुए ये उपलब्धि हासिल की, जबकि संगकारा ने 404 वनडे में 99 स्टम्पिंग की थी. (यह भी पढ़ें: अपने 300वें वनडे में धोनी का कमाल, शानदार पारी से बनाया एक और विश्व रिकॉर्ड) Also Read - KBC 12: MS Dhoni के सवाल पर कंटेस्टेंट ने इस्तेमाल की 2 लाइफलाइन, क्या आपको पता है इसका जवाब

धोनी ने अब तक वनडे में 100, टेस्ट में 38 और टी20 इंटरनेशनल मैचों में 23 स्टम्पिंग की हैं. इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टम्पिंग करने के मामले में भी धोनी पहले नंबर पर हैं. उन्होंने इंटरनेशनल मैचों में अब तक 16 स्टम्पिंग की हैं, दूसरे नंबर पर 139 स्टम्पिंग के साथ कुमार संगकारा हैं.

धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी पहली स्टम्पिंग 27 दिसंबर 2004 में सचिन तेंदुलकर की गेंद पर ढाका में बांग्लादेश के बल्लेबाज राजिन सालेह को आउट करके की थी.

धोनी ने श्रीलंका के खिलाफ चौथे वनडे में अपना 300वां वनडे मैच खेला था और वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले सचिन, गांगुली, द्रविड़, अजहर और युवराज के बाद छठे भारतीय खिलाड़ी बन गए. (यह भी पढ़ें: धोनी ने 300वें वनडे में उतरते ही रचा ये इतिहास, सचिन ने अनोखे अंदाज में दी बधाई)

धोनी अपने 300वें वनडे के दौरान 49 रन की नाबाद पारी खेलते हुए वनडे में 73वीं बार नाबाद रहे थे और वह दुनिया में सबसे ज्यादा बार नाबाद रहने वाले बल्लेबाज बने थे. उन्होंने इस मामले में शॉन पोलाक और चमिंडा वास (72-72 बार नाबाद) का रिकॉर्ड  तोड़ा था.