नई दिल्ली. चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के टॉस जीतने के साथ ही IPL-12 की शुरुआत हो गई. लेकिन अब बड़ा डर ये है कि कही ये टॉस का बॉस बनना मैच में धोनी के गले की हड्डी न बन जाए. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि धोनी पिच की पढ़ाई में फेल हो गए हैं. टॉस जीतने के बाद धोनी ने जो कुछ कहा है वो हैरान करने वाला है.

पिच पढ़ने में फेल धोनी!

टॉस जीतने के बाद धोनी ने पहले गेंदबाजी के फैसले को लेकर कहा कि, ” उन्हें चेपक की मौजूदा पिच का कोई अंदाजा नहीं है. इस विकेट पर कितने का टारगेट सेफ होगा इसका भी उन्हें पता नहीं.” साफ है धोनी ने पहले गेंदबाजी का फैसला पिच के मिजाज को जानें, उसे अच्छे से पढ़े बगैर किया है. ऐसे में उनका ये फैसला उनकी टीम के लिए आत्मघाती साबित हो सकता है.

 धोनी के फैसले के खिलाफ आंकड़े

धोनी के पहले गेंदबाजी के फैसले को चेपक के आंकड़े भी गलत ठहराते हैं. दरअसल, इस मैदान पर अब तक खेले 49 मुकाबलों में से 31 में पहले बैटिंग करने वाली टीम को जीत मिली है. जबकि 18 में ही बाद में बैटिंग वाली टीम जीत सकी है. साफ है इसका पूरा फायदा अब विराट एंड कंपनी न सिर्फ उठा सकती है बल्कि CSK के खिलाफ चेपक पर चले आ रहे अपने पिछले लगातार 6 हार के सिलसिले को तोड़ भी सकती है. दरअसल, टॉस हारने के बाद विराट से जब फैसले के बारे में पूछा गया तो उनका सीधा कहना था कि वो पहले बैटिंग मिलने से खुश हैं.