नई दिल्ली : टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए सिडनी वनडे में झे रिचर्डसन ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे. शनिवार को खेले गए मैच में ऑस्ट्रेलिया लकी रहा. क्यों कि अंपायर के गलत फैसले की वजह से उन्हें महेन्द्र सिंह धोनी आउट हुए. रिचर्डसन का कहना है कि उनकी टीम भाग्यशाली रही. धोनी एक समय पर रोहित शर्मा के साथ अच्छी बैटिंग कर रहे थे. उन्होंने रोहित के साथ शतकीय साझेदारी बनायी. लेकिन जैसन बेहरनडॉर्फ की गेंद पर धोनी 51 रन बनाकर आउट हुए. इस पर रिचर्डसन का कहना है कि यह ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए बहुत अच्छा रहा.

दरअसल 33वें ओवर में बेहरनडॉर्फ की गेंद पर धोनी को एलबीडब्ल्यू आउट दिया गया. लेकिन धोनी आउट नहीं थे, क्यों गेंद स्टम्प्स के बाहर टप्पा खाकर गिरी थी. लेकिन डीआरएस न होने की वजह से धोनी को पवेलियन लौटना पड़ा. धोनी के आउट होने से पहले अंबाती रायडू एक डीआरएस गंवा चुके थे. इस पर मैच के बाद के रिचर्डसन ने कहा, ‘‘एक समय ऐसा था जब वे अच्छी साझेदारी निभा रहे थे और इससे मैच हमारे हाथ से निकलता जा रहा था. लेकिन हम भाग्यशाली रहे जो धोनी को पगबाधा आउट करने में सफल रहे. इसके बाद हमने लगातार विकेट हासिल किये.’’

सिडनी में ‘सिक्सर किंग’ बने रोहित शर्मा, डिविलियर्स को पछाड़ रिकॉर्ड किया अपने नाम

रिचर्डसन ने 26 रन देकर चार विकेट लिये जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. उन्होंने रोहित शर्मा के प्रदर्शन की तारीफ की जिनकी शतकीय पारी भारत के काम नहीं आयी. उन्होंने कहा, ‘‘रोहित ने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की. उसे पूरा श्रेय जाता है और उसने परिस्थितियों से अच्छी तरह सामंजस्य बिठाया. उसने संयम के साथ बल्लेबाजी और खाली स्थानों का अच्छा उपयोग किया.’’ रिचर्डसन ने कहा, ‘‘रोहित बेहद खतरनाक बल्लेबाज है और हम इसे जानते थे. इसलिए हमारी रणनीति उसे अधिक से अधिक स्ट्राइक से दूर रखना था. ’’