नई दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के बारे में सबको पता है कि वे सरल व्यक्ति हैं. खेल के मैदान पर और इसके बाहर, कई बार इसकी मिसालें भी क्रिकेटप्रेमियों को देखने को मिल चुकी है. शांत और सौम्य धोनी को इसीलिए कैप्टन-कूल के नाम से भी जाना जाता रहा है. अभी बीते दिनों ही नागपुर में खेले गए भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच के दौरान जब एक प्रशंसक उनके पैर छूने आया तो वह उससे दूर भागने लगे. धोनी की इस सरलता का एक और उदाहरण बुधवार को उनके गृहनगर, यानी झारखंड की राजधानी रांची में देखने को मिला. Also Read - IPL 2021: महेंद्र सिंह धोनी ने किया खुलासा- चाहर के बार-बार कहने पर भी क्यों नहीं लिया DRS

Also Read - Deepak Chahar की मैच विनिंग परफॉर्मेंस पर बहन Malti Chahar का मजेदार ट्वीट, धोनी को लेकर कही ये बात

धोनी ने बुधवार को रांची के जेएससीए स्टेडियम (JSCA stadium) में एक पवेलियन का उद्घाटन करने से इंकार कर दिया. वजह यह थी कि इस पवेलियन का नाम उनके ही नाम पर रखा गया था. धोनी ने इस प्रस्ताव को यह कहते हुए विनम्रता से ठुकरा दिया कि कोई अपने घर में भी उद्घाटन करता है क्या. आपको बता दें कि इस मैदान पर भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच शुक्रवार को तीसरा वनडे खेला जाना है. Also Read - IPL 2021, PBKS vs CSK: पंजाब को 6 विकेट से हराकर अंकतालिका में दूसरे नंबर पर पहुंची चेन्नई

VIDEO: धोनी ने फैन के साथ खेला ‘पकड़म-पकड़ाई’ का खेल, विराट संग देखती रह गई टीम

यह गौरतलब है कि क्रिकेट खेलने वाले कई देशों में खिलाड़ियों के नाम पर पवेलियन या स्टैंड बनाने की परंपरा रही है. भारत में तो फिर भी खिलाड़ियों के नाम पर पवेलियन या स्टैंड बनाने की परंपरा कम है. वेस्टइंडीज और इंग्लैंड में यह परंपरा ज्यादा है. मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सुनील गावस्कर के नाम का स्टैंड है. इसी तरह दिल्ली के फिरोजशाह कोटला क्रिकेट मैदान में भी पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग के नाम का एक गेट है. कुछ इसी तर्ज पर झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन ने रांची में स्थित स्टेडियम में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान के नाम पर महेंद्र सिंह धोनी पवेलियन (Mahendra Singh Dhoni Pavilion) बनाया है. जेएससीए के सचिव देबाशीष चक्रवर्ती ने बुधवार को कहा, ‘पिछले साल एजीएम में नॉर्थ ब्लॉक का नामकरण धोनी के नाम पर करने का फैसला किया गया था.’

महेंद्र सिंह धोनी हालांकि इसका उदघाटन करने के लिए तैयार नहीं हुए हैं. चक्रवर्ती ने कहा, ‘हमने धोनी से आग्रह किया था. लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया. धोनी ने कहा कि दादा अपने ही घर में क्या उद्घाटन करना. यह बताता है कि धोनी अब भी पहले की तरह विनम्र हैं.’

नागपुर में जीत के बाद बोले कोहली- धोनी और रोहित के ‘आईडिया’ से मात खा गया ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच धोनी का अपने गृहनगर में अंतिम मैच हो सकता है. जेएससीए के शीर्ष अधिकारी ने कहा कि उन्होंने इसके लिए कोई विशेष योजना नहीं बनाई है. भारत मौजूदा वनडे सीरीज में 2-0 से आगे है. अगर भारत शुक्रवार को तीसरा वनडे जीत लेता है, तो वह सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले लेगा. धोनी अब तक 340 वनडे मैच खेल चुके हैं. उन्होंने इनमे से तीन मैच रांची के जेएससीए स्टेडियम में खेले हैं.

(इनपुट – एजेंसी)