नई दिल्ली: मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को तीनों प्रारूपों के लिए भारतीय टीम में शामिल किया है. पंत को इसलिए तीनों प्रारूपों के लिए चुना गया है क्योंकि अनुभवी विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने अगले दो महीने तक क्रिकेट से ब्रेक लेने का फैसला किया है. धोनी के इस दौरे पर न जाने के फैसले के बाद लोगों ने उनके संन्यास के कयास लगाने शुरू कर दिए थे. वहीं, सूत्रों का कहना है कि पंत को टी-20 विश्व कप को ध्यान में रखकर टीम में चुना गया है. हालांकि टीम प्रबंधन यह भी नहीं चाहती है कि धोनी इस दौरान संन्यास ले लें. टीम प्रबंधन का मानना है कि धोनी अगर संन्यास ले लेते हैं और पंत चोटिल हो जाते हैं तो फिर विश्वकप के लिहाज से एक खालीपन आ जाएगा, जिसे भर पाना मुश्किल हो जाएगा. यह भी कहना है कि कोई भी धोनी का मुकाबला करने लायक नहीं है, इसलिए टीम मैनेजमेंट का मानना है कि धोनी फिलहाल संन्यास न लें.

पंत को बेहतर बनाने के लिए भारतीय टीम में दी जगह, चयनकर्ताओं ने धोनी को लेकर कही ये बात

सूत्रों ने आईएएनएस से कहा, “धोनी अपनी भूमिका और स्थिति को जानते हैं. सभी उनके संन्यास के बारे में बात करते हैं और जब वह इसे छोड़ने का फैसला करेंगे तो यह समझ में नहीं आएगा कि वह टीम के खिलाड़ी हैं. वह कभी भी किसी विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया नहीं देंगे. मुझे यकीन है कि आप सभी उनकी नैतिकता के बारे में बहुत कुछ जानते हैं.” उन्होंने कहा, “ऐसे में जब टीम प्रबंधन टी-20 विश्व कप को ध्यान में रखकर पंत को बेहतर बना रहे हैं तो वे चाहते हैं कि धोनी एक मेंटर के रूप में रहें और जब भी टीम को उनकी जरूरत पड़े तो वह मौजूद रहें.” सूत्र ने कहा, ” आप देखें और बताएं कि अगर पंत चोटिल होते हैं तो कौन है जो उनका विकल्प होगा. सच कहूं तो दूसरी तरफ हमारे पास जितने भी नाम हैं, उनमें से कोई भी धोनी का मुकाबला करने के लायक नहीं है. हां, इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता है कि पंत टीम का भविष्य हैं और उन्हें सभी प्रारूपों में आजमाया जाए, लेकिन धोनी का मार्गदर्शन और मौजूदगी भी बहुत जरूरी है.”

महेंद्र सिंह धोनी ने ‘छोड़ा’ क्रिकेट, अब सेना में अपनी रेजिमेंट के साथ गुजारेंगे दिन

प्रसाद ने कहा था कि टीम पंत को सभी प्रारूपों के लिए देख रही है और यह धोनी को फैसला लेना है कि वह कब संन्यास ले रहे हैं. उन्होंने कहा, “संन्यास का फैसला पूरी तरह से व्यक्तिगत है. धोनी जैसे दिग्गज क्रिकेटर अच्छी तरह से जानते हैं कि उन्हें कब संन्यास लेना है, लेकिन जहां तक भविष्य की बात है तो वह चयनकर्ताओं के हाथ में हैं. वह (धोनी) इस सीरीज के लिए अनुपलब्ध हैं.” प्रसाद ने कहा, “हमने विश्व कप तक एक रोडमैप तैयार किया था और हमारी आगे की योजनाएं भी तैयार है. हम फिलहाल, पंत जैस खिलाड़ियों के कौशल को निखारना चाहते हैं. पंत ने कुछ भी गलत नहीं किया जिसके कारण हम उन्हें टीम में शामिल न करें.”

‘जो नहीं खेल पाते थे, वो भी साध रहे निशाना, सच्चे खिलाड़ी जानते हैं धोनी की असली कीमत’