दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) की नाबाद शतकीय पारी के दम पर चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) को 5 विकेट से हराकर फिर से प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंच गई है.  इस मैच में शिखर को 3 बार जीवदान मिला.  मैच हारने के बाद सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahender Singh Dhoni) ने कहा कि नाबाद शतकीय पारी खेलने वाले धवन का कैच कई बार टपकाना उनकी टीम को महंगा पड़ा. Also Read - KXIP vs DC: पूरन-गेल ने खेली तूफानी पारी, इस तरह अंतिम ओवरों में पंजाब ने जीता मुकाबला

धवन ने 101 रन की पारी खेली  Also Read - बीच आईपीएल दिनेश कार्तिक के कप्‍तानी छोड़ने से नाराज हैं अजीत अगरकर, KKR के लिए कही ये बात

धवन (Dhawan) की 58 गेंद में नाबाद 101 रन की पारी के दम पर दिल्ली कैपिटल्स ने सीएसके (CSK) की ओर से रखे गए 180 रन के लक्ष्य को एक गेंद बाकी रहते 5 विकेट पर 185 रन बनाकर मैच जीत लिया. Also Read - KXIP vs DC: शिखर धवन ने IPL में बैक टू बैक शतक जड़ रचा इतिहास, बने ऐसा करने वाले पहले बल्‍लेबाज

धोनी ने मैच के बाद पुरस्कार समारोह में कहा कि ड्वेन ब्रावो (Dwayen Bravo) चोटिल होने के कारण मैदान से बाहर चले गए थे जिसकी वजह से आखिरी ओवर में रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) से गेंदबाजी करवनी पड़ी.  धोनी ने कहा, ‘ब्रावो फिट नहीं थे, वह मैदान से बाहर गए और फिर वापस नहीं आए.  मेरे पास जडेजा या फिर कर्ण शर्मा (Karn Sharma) से गेंदबाजी कराने का विकल्प था.  मैंने जडेजा को चुना.’

‘दूसरी पारी में विकेट भी थोड़ा आसान था’

धोनी ने कहा, ‘शिखर का विकेट काफी अहम था लेकिन हमने कई बार उनका कैच टपका दिया.  उन्होंने बल्लेबाजी करना जारी रखा और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी अच्छा था.  दूसरी पारी में विकेट भी थोड़ा आसान था.  हम लेकिन धवन से श्रेय वापस नहीं ले सकते है.’

धोनी ने कहा कि पिच के आसान होने के कारण स्थिति उनके लिये मुश्किल हो गई.  उन्होंने कहा, ‘पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के 10 रन कम बने जबकि बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 10 रन अधिक बनाए.