नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई सुपर किंग्स का लंबे समय से हिस्सा रहने वाले बल्लेबाज सुरेश रैना का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी का रणनीति बनाने में कोई मुकाबला नहीं कर सकता. रैना ने कहा कि धोनी की सबसे बड़ी ताकत यह है कि वह वर्तमान में रहते हैं और मैच में ही यह देखकर निर्णय लेते हैं कि मैच किस तरफ जा रहा है.

भारतीय टीम और चेन्नई सुपर किंग्स में धोनी की कप्तानी में खेल चुके रैना ने कहा, “हर कप्तान अलग होता है और खेल में अपने रोमांचक कौशल को लेकर आता है. धोनी ने अपनी दमदार रणनीतियों का लगातार उपयोग किया है जिससे कई वर्षो में टीम को जीत भी मिली है.”

कोई वजह है कि रैना को ‘मिस्टर आईपीएल’ कहा जाता है. उनके नाम इस टूर्नामेंट में 5,000 से अधिक रन हैं और उन्होंने प्रतियोगिता के हर संस्करण में दमदार प्रदर्शन किया है. फिरोजशाह कोटला में मंगलवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हुए मुकाबले में भी उन्होंने दमदार प्रदर्शन किया. एक तरफ जहां अन्य बल्लेबाजों को धीमी विकेट पर रन बनाने में दिक्कत हो रही थी, वहीं रैना ने 16 गेंदों पर 30 रनों की दमदार पारी खेलते हुए मेजबान टीम को मुकाबले से बाहर कर दिया.

लोकेश राहुल ने विवाद पर किया खुलासा, कहा- मुझे खुद पर होने लगा था शक

रैना ने कहा, “हमने दृढ़ निश्चय कर रखा है. इस सीजन हमारे कंधों पर एक बड़ी जिम्मेदारी है और हमने इसी सोच के साथ अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया है. चेन्नई के साथ मैं एक दशक से खेल रहा हूं और मैं टीम में धैर्य लेकर आता हूं. मैं दबाव की स्थिति में टीम को बिखरने नहीं देता.”

टीम इंडिया के इस खिलाड़ी को IPL 2019 में न देखकर निराश हैं अनिल कुंबले

टीम के साथ अपने लंबे सफर पर रैना ने कहा, “मैंने हमेशा अपना ध्यान खेल पर केंद्रित रखा है. शतक और ट्राफियां बोनस हैं. मेरे लिए टीम के जीत में योगदान देना सबसे अहम है और इसी कारण से आज मैं यहां पहुंच पाया हूं.” रैना ने कहा, “मेरे लिए यह मायने नहीं रखता कि मैं किस स्थान पर बल्लेबाजी कर रहा हूं. मेरा ध्यान हमेशा से टीम की सफलता में योगदान देने पर रहा है, चाहे वो रन बनान हो, कैच करना हो या फील्डिंग हो.” चेन्नई का अगला मुकाबला राजस्थान रॉयल्स से होगा.