नई दिल्ली: आईपीएल का 27वां मुकाबला चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियन्स के बीच खेला जायेगा. इस मुकाबले से पहले चेन्नई ने लगातार 5 मैचों में जीत हासिल की है. वहीं मुंबई ने 6 मुकाबलों में से 5 में हार का सामना किया था. इस सीजन का पहला मैच मुंबई और चेन्नई के बीच ही खेला गया था, जिसमें चेन्नई ने रोमांचक जीत हासिल की थी. इन दोनों टीमों के बीच खेले जाना वाला यह मुकाबला काफी अहम होगा. अगर रिकॉर्ड पर नजर डालें दोनों टीमें एक दूसरे को टक्कर देती नजर आयीं. Also Read - Serum Institute Fire Incident: सीरम इंस्टीट्यूट की बिल्डिंग में आग लगने से 5 लोगों की मौत, सीएम बोले- हादसे की होगी जांच

Also Read - मैं नहीं चाहता कि MS Dhoni से हो मेरी तुलना, मैं खुद की पहचान बनाना चाहता हूं: Rishabh Pant

दरअसल चेन्नई और मुंबई के बीच हेड टू हेड 23 मैच खेले गए हैं, जिसमें 12 मैच मुंबई ने और 11 मैच चेन्नई ने जीते हैं. हालांकि इस सीजन में परिस्थितियां काफी अलग हैं. लगातार हार का सामना कर रही मुंबई के लिए चेन्नई को टक्कर देना आसान नहीं होगा. रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम मुंबई प्लेइंग इलेवन पर विशेष ध्यान देगी. लेकिन एक दिलचस्प बात यह भी है कि मुंबई के गेंदबाजों ने चेन्नई के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और सुरेश रैना को काफी परेशान किया है. Also Read - IPL 2021 Auction MI LIVE: लसिथ मलिंगा बाहर, ये है मुंबई इंडियंस के रिटेन्‍ड और रिलीज किए गए क्रिकेटर्स की पूरी लिस्‍ट

दिल्ली ने 16वें ओवर की वजह से जीता मैच, श्रेयस अय्यर ने मैच के बाद किया खुलासा

मुंबई के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के खिलाफ रैना और धोनी अभी तक बेबस ही दिखे हैं. बुमराह ने धोनी के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए 27 गेंदों में महज 34 रन ही दिए हैं और उन्हें तीन बार आउट किया है. वहीं रैना के खिलाफ 22 गेंदों में महज 27 रन दिए हैं. इसके अलावा उन्होंने रैना को दो बार आउट किया. ये आंकड़े पिछले मुकाबलों के हैं. अगर मुंबई के ऑलराउंडर पोलार्ड और चेन्नई के शेन वॉटसन की बात करें तो पोलार्ड ने वॉटसन की 28 गेंदों पर 67 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 9 चौके और 4 छक्के जड़े हैं. दिलचस्प बात यह भी है कि वॉटसन उन्हें इस दौरान एक बार भी आउट नहीं कर पाए हैं.

कोलकाता के खिलाड़ियों पर भड़के दिनेश कार्तिक, हार का इन्हें ठहराया जिम्मेदार

बता दें कि इस मुकाबले से पहले चेन्नई ने सीजन के पहले मुकाबले में मुंबई को 1 विकेट से हराया था. इस मैच में मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 4 विकेट कोकर 165 रन बनाए थे. इसके जवाब में चेन्नई ने 19.5 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया. यह मुकाबला बेहद रोमांचक रहा था. चेन्नई की ओर से तूफानी पारी खेलते हुए ड्वेन ब्रावो ने 30 गेंदों का सामना करते हुए 7 छक्कों और 3 चौकों की मदद से 68 रन बना बनाए थे.