ICC World Cup 2019: सुरेश रैना (Suresh Raina) का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी  (MS Dhoni) भले ही कागजों पर कप्तान नहीं हों, लेकिन जो एक बार कप्तान बनता है, वह हमेशा कप्तान रहता है. टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के तीन साल बाद 2017 में धोनी ने वनडे और टी-20 अंतरराष्ट्रीय टीम की कप्तानी भी छोड़ दी थी, लेकिन इसके बावजूद भारतीय टीम की रणनीति में धोनी की अहम भूमिका रहती है. इस बात को कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) तक स्वीकार कर चुके हैं. अपने परिवार के साथ नीदरलैंड में छुट्टियां मना रहे रैना ने पीटीआई से कहा, ‘कागजों पर वह कप्तान नहीं हैं, लेकिन मुझे लगता है कि वह मैदान पर विराट के लिए कप्तान हैं.’ उन्होंने कहा, ‘उनकी भूमिका अब भी वही है. वह विकेट के पीछे से गेंदबाजों के साथ संवाद करते हैं, फील्डिंग सजाने में भी जिम्मेदारी निभाते हैं.’

न्यूजीलैंड से अभ्यास मैच हारे, फिर भी पांड्या-जडेजा से खुश हैं कैप्टन कोहली, कहा- बहुत बढ़िया

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपरकिंग्स के अहम सदस्य रैना ने कहा, ‘वह कप्तानों के कप्तान हैं. जब धोनी विकेट के पीछे होते हैं तो विराट आश्वस्त महसूस करते हैं. उन्होंने हमेशा यह स्वीकार किया है.’ रैना ने हालांकि कहा कि यह कोहली के लिए बड़ा विश्व कप होगा.

उन्होंने कहा, ‘वह आश्वस्त खिलाड़ी और कप्तान हैं. यह उनके लिए बहुत बड़ा विश्व कप है. वह अपनी भूमिका को अच्छी तरह जानते हैं. उन्हें अपने खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देने की जरूरत है. सभी चीजें हमारे पक्ष में नजर आ रही हैं. इरादा सकारात्मक होना चाहिए. यह विश्व कप जीतने के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम है.’

World Cup 2019: प्रैक्टिस मैच में न्यूजीलैंड के हाथों टीम इंडिया की हार पर सचिन तेंदुलकर ने दिया यह बयान

रैना ने साथ ही कहा कि हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) वर्ल्ड कप में भारत के लिए अहम खिलाड़ी होंगे. उन्होंने कहा, ‘ पांड्या अच्छी फील्डिंग और बल्लेबाजी कर सकते हैं और साथ ही छह से सात ओवर गेंदबाजी कर सकते हैं. अगर वह आईपीएल के आत्मविश्वास के साथ विश्व कप में उतरते हैं, तो पासा पलट सकता है.’

धोनी की कप्तानी में 2011 विश्व कप जीतने वाली टीम के सदस्य रैना ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इस विश्व कप में हार्दिक भारत के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी होंगे. अगर हमने अंतिम चार में जगह बनाई और उन्हें टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार मिलता है, तो मुझे हैरानी नहीं होगी.’

भारत को अपने पहले अभ्यास मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ छह विकेट से हार का सामना करना पड़ा और रैना का मानना है कि टीम को बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए सतर्क रहने की जरूरत है.