हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) बल्‍लेबाज से लगातार मार खा रहे अपने गेंदबाज को बीच में डिस्‍टर्ब नहीं करते हैं. धोनी का मानना है कि अगर गेंदबाज को बीच में कुछ बताया गया तो वो कंफ्यूज हो जाएगा. Also Read - पूर्व कप्तान कुमार संगाकारा ने बताया 2011 विश्व कप फाइनल में दोबारा टॉस कराने का कारण

ईएसपीएन के कार्यक्रम में बातचीत के दौरान भज्‍जी ने कहा, “धोनी ऐसा कप्‍तान नहीं है जो आपसे कहे कि ये करो या वो करो. वो चाहता है कि तुम वो काम करो जो तुम्‍हे लगता है कि तुम कर सकते हो. उस तरह से बॉल डालो जो तुम्‍हे लगता है कि तुम कर सकते हो.” Also Read - 10वीं सालगिरह पर साक्षी का MS Dhoni के लिए इमोशनल मैसेज, ‘एक दूसरे के लिए पागल होने से आए पहले से ज्‍यादा करीब’

“हां, धोनी ने मुझे गेंदबाजी के दौरान स्‍टंप के पीछे से और ओवर के बाद धकेलने का प्रयास जरूर किया है. वो बताते हैं कि बल्‍लेबाज ये करने का प्रयास कर रहा है या वो काम कर सकता है, लेकिन वो यह नहीं बताएगा तुम्‍हें कि क्‍या करना है.” Also Read - Happy Birthday PV Sindhu: विज्ञापन से कमाई में धोनी को भी पछाड़ चुकी हैं सिंधु, ये है संपत्ति का ब्‍यौरा

हरभजन सिंह ने बताया, “जब शार्दुल ठाकुर पुणे में था तो उसे हर गेंद पर मार पड़ रही थी. पहली गेंद पर चौका पड़ा, दूसरी गेंद पर छक्‍का पड़ा. मैं धोनी के पास गया और उनसे कहने कहा कि आप ठाकुर से एंगल चेंज करने के लिए क्‍यों नहीं करते हो या फील्‍डर को पीछे क्‍यों नहीं लगाते हो.”

महेंद्र सिंह धोनी ने मुझे जवाब दिया, “भज्‍जी पा, इस वक्‍त मैंने उसे कुछ कहा तो वो कंफ्यूज हो जाएगा. उसे खाने तो. उसे पता है कि हम चौके-छक्‍के खाना अफोर्ड कर सकते हैं क्‍योंकि हम प्‍लेऑफ के लिए क्‍वालीफाई कर चुके हैं. ”

धोनी ने आगे कहा, “ज‍ब शार्दुल ठाकुर को लगेगा कि अब कोई विकल्‍प नहीं बचा है. तब मैं उसे बताऊंगा कि वो क्‍या ट्राय कर सकता है.”
भज्‍जी ने कहा कि धानी उस वक्‍त तक आपको कुछ नहीं बताएगा जब तक आपको खुद यह नहीं लगता कि आपके पास कोई विकल्‍प नहीं बचा है.