नई दिल्ली: भारतीय पूर्व कप्तान और दिग्गज विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी जो चाहते थे, उसकी परमीशन उन्हें मिल गई है. धोनी ने सेना के साथ दो माह गुजारने की गुजारिश की थी, जो कि सेना ने मंजूर कर ली है. सूत्रों के मुताबिक सेना प्रमुख बिपिन रावत ने धोनी को दो माह के लिए ट्रेनिंग की इजाजत दे दी है. धोनी पैराशूट रेजिमेंट बटालियन के साथ ट्रेनिंग लेंगे. ये दो माह के लिए होगी. धोनी को जम्मू कश्मीर में भी ट्रेनिंग दी जा सकती है. वहीं, आर्मी के किसी भी एक्टिव ऑपरेशन में धोनी को शामिल होने की इजाजत नहीं होगी. बता दें कि धोनी सेना की पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल हैं. धोनी अगले दो महीने अपनी रेजिमेंट के साथ ही बिताएंगे. Also Read - J&K Latest News: जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ में पाकिस्‍तान की फायरिंग में JCO शहीद

Also Read - WATCH: दुबई में मस्ती कर रहा है धोनी परिवार; पत्नी साक्षी और बेटी जीवा के साथ नाचते दिखे माही

‘जो नहीं खेल पाते थे, वो भी साध रहे निशाना, सच्चे खिलाड़ी जानते हैं धोनी की असली कीमत’ Also Read - India vs Australia 2020-21: Sachin Tendulkar और MS Dhoni के इस रिकॉर्ड की बराबरी करना चाहेंगे Virat Kohli

महेंद्र सिंह धोनी वेस्टइंडीज़ दौरे के लिए सेलेक्ट होंगे या नहीं, इसे लेकर कयास लगाए जा रहे थे.आज टीम इंडिया का एलान हो गया. इसमें धोनी का नाम नहीं है. उनकी जगह विकेटकीपिंग के लिए ऋषभ पंत को मौका दिया गया है. दो दिन पहले ही महेंद्र सिंह धोनी ने एक बड़ा फैसला किया था. धोनी ने दो महीने के लिए टीम और क्रिकेट से अलग होने का फैसला किया था. धोनी ने कहा था कि इस दौरान वह भारतीय सेना को समय देंगे. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ने प्रदर्शन को लेकर चल रही चर्चाओं के बीच ये फैसला किया है. दो दिन पहले ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के शीर्ष अधिकारियों ने भी धोनी के इस फैसले की पुष्टि की थी. बीसीसीआई के अधिकारियों के मुताबिक धोनी ने खुद ही ये फैसला किया है कि वह अपनी रेजिमेंट के साथ दो माह तक रहेंगे.

गौतम गंभीर का ‘दर्द’ छलका- जैसा मेरे, सचिन और वीरू के साथ हुआ, धोनी के साथ भी वैसा ही हो

बता दें कि वर्ल्ड कप में अपने प्रदर्शन को लेकर धोनी आलोचकों के निशाने पर हैं. कई पूर्व क्रिकेटर भी उन पर निशाना साध रहे हैं. एक दिन पहले ही पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा था कि धोनी के साथ भी वैसा ही होना चाहिए जैसा मेरे, सहवाग और सचिन के साथ हुआ था. वहीं, पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता संजय जगदाले ने कहा कि जो अपने समय में ठीक से खेल नहीं पाए, वो भी धोनी की आलोचना कर रहे हैं. धोनी की असली कीमत सच्चे खिलाड़ी जानते हैं. उन्होंने कहा था कि धोनी में अभी काफी क्रिकेट बचा है. भारतीय क्रिकेट को उनका बड़ा योगदान है.

पंत को बेहतर बनाने के लिए भारतीय टीम में दी जगह, चयनकर्ताओं ने धोनी को लेकर कही ये बात