कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव की वजह से इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) को 15 अप्रैल तक स्थगित किए जाने के बाद महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की टीम इंडिया में वापसी के प्लान को झटका लगा है। इस महामारी की वजह से बाकी टीमों की तरह चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) का कैंप्स भी रद्द कर दिया गया था, जिसके बाद धोनी रांची लौट गए थे। इससे फैंस काफी निराश हैं। Also Read - Coronavirus: सीएम शिवराज सिंह चौहान बोले- MP में धीमी हुई मरीजों के दोगुना होने की दर

सीएसके के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी (Laxmipathy Balaji) भी इस बात से निराश है क्योंकि उनके मुताबिक धोनी आईपीएल के लिए नेट में कड़ी मेहनत कर रहे थे और उनका पूरा ध्यान आईपीएल पर था। Also Read - On This Day in 2018: ये हैं CSK की ऐतिहासिक जीत के 12 नायक

इंडियाटुडे को दिए बयान में बालाजी ने कहा, “धोनी फिट लग रहे थे। उनका ध्यान हमेशा की तरह से ट्रेनिंग पर था और वो हमेशा की तरह नॉर्मल थे। उन्होंने वैसे ही ट्रेनिंग की जैसी उन्होंने एक या दो साल पहले की थी। जहां तक उनकी तैयारी की बात है, उसमें कोई बदलाव नहीं आया है। उनका रूटीन, उनकी मानसिकता सब कुछ समान था। धोनी का पूरा ध्यान आईपीएल के लिए तैयारी करने पर था। वो ऐसा शख्स है जो एक समय पर एक ही चीज के बारे में सोचता है।” Also Read - इरफान पठान की मदद से आईपीएल तक पहुंचा जम्मू-कश्मीर का क्रिकेटर टूर्नामेंट स्थगित होने से नाखुश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया था। जिसके बाद आईपीएल के रद्द होने की खबरे सामने आ रही हैं। क्योंकि लॉकडाउन समय पर खत्म होने के बाद भी बीसीसीआई को विदेशी खिलाड़ियों के वीजा को लेकर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।