अगर कोई टीम किसी टूर्नामेंट के 12 में 10 सीजन में प्लेऑफ में पहुंचने में कामयाब रही है तो उनकी रणनीति में कुछ तो बात होगी। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में ये कारनामा कर दिखाने वाले चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के अहम विदेशी बल्लेबाज और दक्षिण अफ्रीकी टीम के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf Du plessis) ने बताया कि महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की अंतरराष्ट्रीय कप्तानों को स्क्वाड में शामिल करने की रणनीति सीएसके के लिए फायदेमंद साबित हुए।Also Read - India-China के बीच 12वें राउंड की मोल्‍दो में कॉर्प्‍स कमांडर स्‍तर की वार्ता जारी, इन टकराव वाले प्‍वाइंटस पर चर्चा

सीएसके की वेबसाइट पर छपे डु प्लेसिस के बयान के मुताबिल, “एक सबसे अच्छी बात जो चेन्नई ने की है और जिसका श्रेय धोनी तथा कोच स्टीफन फ्लेमिंग को जाता है, वो ये कि इन्होंने ब्रेंडन मैक्कुलम, मुझे, ड्वेन ब्रावो जैसे कप्तानों को शामिल किया, इसमें सुरेश रैना भी शामिल हैं जिन्होंने थोड़ी बहुत कप्तानी की थी..क्योंकि वे लोग ऐसे क्रिकेटर चाहते थे जो सोचते हों। इसलिए ग्रुप में काफी सारे कप्तान थे। सोचने वाले क्रिकेटरों का अनुभव ही वो लोग चाहते थे और जाहिर सी बात है कि ये सफल रहा।” Also Read - COVID19 Cases Update: देश में लगतार चौथे दिन कोरोना के सक्रिय मरीज बढ़े, आज 41,649 नए केस दर्ज हुए

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा, “चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा होना शानदार है। धोनी के पास मजबूत नेतृत्व समूह है। जब वो मैदान पर नहीं होते हैं तो वह बड़ा खालीपन छोड़कर जाते हैं।” Also Read - फिलीपीन ने भारत एवं नौ अन्य देशों पर यात्रा पाबंदियां 15 अगस्त तक के लिए बढ़ायीं

CSK के पास रवींद्र जडेजा जैसे शानदार फील्डर्स

तीन बार आईपीएल खिताब जीत चुकी चेन्नई सुपर किंग्स टीम का हिस्सा रहे डु प्लेसिस ने बताया कि टीम में कई शानदार फील्डर भी हैं।

उन्होंने कहा, “मैं मैदान पर उन जगहों पर फील्डिंग करना पसंद करता हूं, जहां गेंद बार बार जाती है। हम खुशकिस्मत हैं कि सीएसके के पास कई अच्छे फील्डर्स हैं। जड्डू कमाल है, उसका हाथ विश्व क्रिकेट में सबसे मजबूत है। जड्डू चाहता है कि वो (बल्लेबाजों) भागें और रन लेने की कोशिश करें। वो गेंद तक आराम से टहलकर जाता है क्योंकि उन्हें पता है कि अगर वो भागेंगे तो वो आउट होंगे।”