न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 0-2 से मिली शर्मनाक हार के बाद समीक्षकों को निशाने पर खड़े कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को चयनकर्ता एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) का साथ मिला है। टीम इंडिया के प्रमुख चयनकर्ता का कहना है कि एक खराब सीरीज को कोहली के खिलाफ इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। Also Read - इंग्लैंड दौरे पर टीम इंडिया के प्रमुख ऑलराउंडर की भूमिका में दिखेंगे रवींद्र जडेजा, ये हैं कारण

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए बयान में प्रसाद ने कहा, “हम एक ऐसे दिग्गज की बात कर रहे हैं जो सालों से रन-मशीन बना हुआ है। वो भी इंसान है और एक-दो सीरीज ऐसी हो सकती हैं जहां वो प्रदर्शन ना कर पाए। एक सीरीज को उसके खिलाफ इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। वो एक शानदार खिलाड़ी है।” Also Read - Mothers Day: बेबी अगस्‍तय ने मां नताशा के साथ जमकर की मस्‍ती, MI ने वीडियो शेयर कर मराठी में कही ये बात

भारतीय कप्तान के लिए ना केवल ये टेस्ट सीरीज बल्कि पूरा न्यूजीलैंड दौरा ही खास नहीं रहा है। कोहली ने टेस्ट मैच की चार पारियों में 9.50 की औसत से 38 रन बनाए हैं। वहीं तीन वनडे मैचों में कोहली ने 25 की औसत से 75 रन बनाए थे।पांच मैचों की टी20 सीरीज में कोहली का प्रदर्शन थोड़ा बेहतर रहा था। उन्होंने चार पारियों में 26.25 की औसत से 105 रन बनाए थे। Also Read - आकाश चोपड़ा बोले- Hardik Pandya लंबे समय तक नहीं खेल पाएंगे टेस्‍ट, बताई ये वजह

धवन, शिखर, हार्दिक की फिटनेस पर प्रसाद की कड़ी नजर

डीवाई पाटिल टी20 कप देखने पहुंचे प्रसाद ने टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे भारतीय खिलाड़ी भुवनेश्वर कुमार, शिखर धवन और हार्दिक पांड्या के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा, “मैं यहां शिखर धवन को डीवाई पाटिल टूर्नामेंट में खेलते देखने आया हूं। मैं यहां खासकर धवन, भुवी और हार्दिक को देखने आया हूं। मैं उनकी प्रगति को देखकर खुश हूं।”

पंत के बचाव में उतरे कोहली, कहा- जब पूरी टीम का प्रदर्शन खराब तो केवल वो दोषी क्यों?

धवन, भुवी और हार्दिक अलग-अलग चोटों की वजह से भारतीय टीम से बाहर हुए थे और अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज से पहले वापसी की कोशिश करने में लगे हुए हैं।