नई दिल्ली : एबी डिविलियर्स और मोईन अली के अर्धशतकों की मदद से रायल चैलेंजर्स बेंगलोर ने खराब शुरुआत से उबरकर मुंबई इंडियन्स के खिलाफ आईपीएल मैच में सोमवार को यहां सात विकेट पर 171 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया. डिविलियर्स ने 51 गेंदों पर 75 रन बनाये जिसमें छह चौके और चार छक्के शामिल हैं. मोईन ने 32 गेंदों पर एक चौके और पांच छक्कों की मदद से 50 रन की पारी खेली. इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 95 रन की साझेदारी की. मुंबई की तरफ से लेसिथ मलिंगा ने 31 रन देकर चार विकेट लिये.

मुंबई ने टॉस जीतकर बेंगलोर को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया और शुरू में कसी हुई गेंदबाजी की. पहले चार ओवर में केवल 21 रन बने और इस बीच जेसन बेहरनडोर्फ ने कप्तान विराट कोहली (आठ) को विकेट के पीछे कैच कराकर बेंगलोर को करारा झटका दिया.

पार्थिव पटेल (20 गेंदों पर 28) ने हालांकि बेहरनडोर्फ के अगले ओवर में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 19 रन बटोरे जिससे पावरप्ले तक स्कोर 45 रन की सम्मानजनक स्थिति तक पहुंच पाया. पार्थिव की आक्रामकता एक ओवर तक ही सीमित रही और हार्दिक पांड्या ने धीमी गेंद पर ललचाकर उन्हें हवा में गेंद लहराकर कैच देने के लिये मजबूर किया.

ऋषभ पंत को टीम इंडिया में नहीं मिली जगह, सुनील गावस्कर ने जताई हैरानी

डिविलियर्स और मोईन ने यहां से जिम्मेदारी संभाली. इन दोनों ने न सिर्फ पारी संवारने का बीड़ा उठाया बल्कि लंबे और तगड़े शॉट खेलकर स्कोर बोर्ड भी चलायमान रखा. डिविलियर्स ने विकेट बचाये रखने को भी तरजीह दी और केवल ढीली गेंदों का इंतजार किया लेकिन दूसरे छोर से मोईन ने लंबे शाट जमाने के अपने कौशल का शानदार नमूना पेश किया.

मोईन ने राहुल चहर और हार्दिक पांड्या की गेंदों को छह रन के लिये लहराने के बाद बेहरनडोर्फ के एक ओवर में दो छक्के जड़े. डिविलियर्स ने जहां 41 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया वहीं मोईन ने इसके लिये केवल 31 गेंदें खेली. इसके तुरंत बाद हालांकि उन्होंने मलिंगा की गेंद पर सीमा रेखा पर कैच थमा दिया. मलिंगा ने इसी ओवर में नये बल्लेबाज मार्कस स्टोइनिस (शून्य) को भी पवेलियन भेजा.

World Cup 2019: लक्ष्मण ने टीम इंडिया को बताया खिताब का दावेदार

इसके बाद डिविलियर्स ने बुमराह की सम्मानजनक गेंदों को भी सीमा रेखा के दर्शन कराये. इस गेंदबाज की तेजी से उठती गेंद उनके हेलमेट से लगी लेकिन इससे डिविलियर्स विचलित नहीं हुए. मलिंगा की गेंद पर आकर्षक छक्का जमाने के बाद वह तेजी से रन चुराने के प्रयास में रन आउट हो गये. मलिंगा ने अंतिम चार गेंदों पर दो रन दिये और दो विकेट लिये.