मुंबई: लेसिथ मलिंगा की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन और कप्तान रोहित शर्मा के सधी हुई अर्धशतकीय पारी से मुंबई इंडियन्स ने रविवार को यहां कोलकाता नाइटराइडर्स को 23 गेंद शेष रहते हुए नौ विकेट से करारी शिकस्त देकर आईपीएल 2019 के लीग चरण में शीर्ष स्थान हासिल करके पहले क्वालीफायर में खेलने का हक पाया. मुंबई की जीत से सनराइजर्स हैदराबाद 12 अंक होने के बावजूद बेहतर रन गति के कारण क्वालीफाई करने में सफल रहा जबकि दिल्ली कैपिटल्स 18 अंक हासिल करने पर भी तीसरे स्थान पर खिसक गया. केकेआर का हार के साथ ही इस सत्र का सफर खत्म हो गया.

 

केकेआर की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 133 रन ही बना पायी. मुंबई ने 16.1 ओवर में एक विकेट पर 134 रन बनाकर शान से अंकतालिका में पहला स्थान हासिल किया. रोहित ने 48 गेंदों पर नाबाद 55 रन बनाये जिसमें आठ चौके शामिल हैं. उन्होंने क्विंटन डिकाक (23 गेंदों पर 30) के साथ पहले विकेट के लिये 46 और सूर्य कुमार यादव (27 गेंदों पर नाबाद 46) के साथ दूसरे विकेट के लिये 88 रन की अटूट साझेदारी की. केकेआर को आंद्रे रसेल की नाकामी और रोबिन उथप्पा की धीमी बल्लेबाजी महंगी पड़ी. क्रिस लिन (29 गेंदों पर 41 रन) ने केकेआर को अच्छी शुरुआत दिलायी थी. उथप्पा ने तीन छक्कों की मदद से 40 रन बनाये लेकिन उन्होंने इसके लिये 47 गेंदें खेली. इन दोनों के अलावा नितीश राणा (13 गेंदों पर 26 रन) ही दोहरे अंकों में पहुंचे.

इन दोनों टीमों के लिये यह मैच काफी महत्वपूर्ण था. केकेआर को प्लेऑफ में पहुंचने के लिये केवल जीत की जरूरत थी लेकिन हारने से उसने 12 अंकों के साथ अपने अभियान का अंत किया. सनराइजर्स और किंग्स इलेवन पंजाब के भी 12 . 12 अंक रहे लेकिन हैदराबाद की टीम बेहतर रन गति के आधार पर प्लेऑफ में पहुंच गयी. आईपीएल में यह पहला अवसर है जबकि कोई टीम इतने कम अंक होने के बावजूद प्लेऑफ में पहुंची.

मुंबई जीत से शीर्ष दो में पहुंच गया और इस तरह से उसे फाइनल में पहुंचने के दो मौके मिलेंगे. चेन्नई सुपरकिंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के भी समान 18.18 अंक थे. चेन्नई और मुंबई बेहतर रन गति के कारण पहले दो स्थानों पर रहे. ये दोनों सात मई को चेन्नई में पहला क्वालीफायर खेलेंगे जबकि दिल्ली और हैदराबाद आठ मई को विशाखापट्टनम में एलिमिनेटर में भिड़ेंगे. मुंबई की जीत में उसके गेंदबाजों ने अहम भूमिका निभायी. लेसिथ मलिंगा ने 35 रन देकर तीन जबकि हार्दिक पंड्या ने 20 और जसप्रीत बुमराह ने 31 रन देकर दो . दो विकेट लिये. क्रुणाल पंड्या (चार ओवर में 14 रन) और मिशेल मैकलेनगन (चार ओवर में 19 रन) ने कसी हुई गेंदबाजी की.

इसके बाद डिकाक ने पावरप्ले में 46 रन जोड़कर टीम को अच्छी शुरुआत दिलायी. शुरू में डिकाक ने रन बनाने का जिम्मा उठाया. उन्होंने संदीप वारियर पर छक्के से शुरुआत की और फिर रसेल पर लगातार दो छक्के लगाये. दिनेश कार्तिक ने लंबी दौड़ लगाकर खूबसूरत कैच से उनकी पारी का अंत किया. रोहित ने किसी तरह की जल्दबाजी नहीं दिखायी और सहजता से रन बटोरे. उन्हें डिकाक के बाद सूर्यकुमार के रूप में अच्छा साथी मिला जिन्होंने सुनील नारायण पर दर्शनीय छक्का लगाया और हैरी ग्रुनी पर दो चौके लगाये.

रोहित ने 44 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया. इस सत्र में यह दूसरा अवसर है जबकि वह अर्धशतक लगाने में सफल रहे. सूर्यकुमार ने अपनी पारी में पांच चौके और दो छक्के लगाये जिसमें रसेल पर लगाया गया विजयी छक्का भी शामिल है. इससे पहले केकेआर की तरफ से पहले 12 ओवरों में चार छक्के और दो चौके लगे और ये सभी लिन के बल्ले से निकले. लिन ने मैकलेनगन और मलिंगा पर छक्के लगाने के बाद स्पिनर राहुल चाहर का स्वागत दो छक्कों से किया था लेकिन उनके सभी शाट पावरप्ले के दौरान लगे थे जिसमें केकेआर का स्कोर बिना किसी नुकसान के 49 रन था.

इसके बाद अगले छह ओवर में केवल 16 रन बने और इस बीच शुभमान गिल (16 गेंदों पर नौ रन) और लिन पवेलियन लौटे. हार्दिक ने गिल का विकेट लेने के बाद नौवें ओवर में लिन को विकेट के पीछे कैच कराया. मलिंगा ने कार्तिक (नौ गेंदों पर तीन रन) और फिर रसेल (शून्य) को आउट करके केकेकार को करारे झटके दिये. मलिंगा राउंड द विकेट आकर गेंद की जो रसेल के दस्तानों को चूमकर विकेटकीपर के पास पहुंच गयी. राणा ने कुछ समय के लिये उम्मीद बंधाई. उन्होंने हार्दिक पर दो और मलिंगा पर एक छक्का लगाया लेकिन उनके आउट होने से डेथ ओवरों में केकेआर की उम्मीदों को झटका लगा. अंतिम दो ओवरों में दस रन बने. बुमराह ने अंतिम दो गेंदों पर उथप्पा और रिंकू सिंह (चार) को आउट किया.