नई दिल्ली : भारत के सीनियर सलामी बल्लेबाज मुरली विजय इंग्लिश काउंटी चैम्पियनशिप के डिवीजन एक के अंतिम चरण में एसेक्स के लिये तीन मैच खेलेंगे. बीसीसीआई ने शनिवार को इसकी घोषणा की. एसेक्स काउंटी ने क्लब की अधिकारिक वेसाबइट पर इसकी पुष्टि की. चौंतीस वर्षीय विजय को इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन में पहले टेस्ट में 20 और छह रन बनाने के बाद भारतीय टीम में शामिल नहीं किया गया. शिखर धवन और लोकेश राहुल भी फार्म में नहीं हैं, बीसीसीआई ने तमिलनाडु के अनुभवी खिलाड़ी के लिये काउंटी मैच आयोजित कराये ताकि वह ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिये दौड़ में बने रहें.

विजय ने अभी तक 59 टेस्ट खेलकर 39.33 के औसत से 3933 रन जुटाये हैं जिसमें 12 शतक और 15 अर्धशतक शामिल हैं. विजय 10 सितंबर से ट्रेंट ब्रिज में नाटिघंमशर में शुरू होने वाले चार दिवसीय मैच में खेलेंगे. इसके बाद वह 18 सितंबर से वारेस्टरशर के खिलाफ चेम्सफोर्ड में घरेलू मैदान पर खेलेंगे और अपने अभियान का अंत 24 सितंबर से ओवल में सरे के खिलाफ करेंगे.

टीम इंडिया के खिलाफ सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने के बाद अब कुक करेंगे एक और रिकॉर्ड ‘कैच’

विजय ने क्लब की वेबसाइट से कहा, ‘‘मैं एक महीने तक भारतीय टीम के साथ यहां था और मैंने देखा कि यहां कितने दर्शक आते हैं. मैं एसेक्स के लिये खेलने को उत्साहित हूं और उम्मीद करता हूं कि हम कुछ मच जीतेंगे.’’

इंटरनेशनल क्रिकेट में विराट कोहली का नया कीर्तिमान, ऐसा करने वाले बने एकमात्र बल्लेबाज

गौरतलब है कि मुरली टीम इंडिया के लिए टेस्ट मैचों में कई बार शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं. लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज में वो कुछ खास नहीं कर पाए. लिहाजा उन्हें आखिरी मुकाबलों के लिए प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया. अगर उनके ओवर ऑल टेस्ट करियर पर नजर डालें तो उन्होंने 101 टेस्ट पारियों में 3933 रन बनाए. इस दौरान 12 शतक और 15 अर्धशतक जड़े हैं. मुरली का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 167 रन है.