नई दिल्ली : टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच खेले गए टेस्ट सीरीज के चौथे मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा. साउथेम्प्टन में खेले गए इस मुकाबले में इंग्लैंड ने 60 रन से जीत हासिल की. यह मुकाबला भारतीय टीम जीत सकती थी, लेकिन खराब बल्लेबाजी की वजह उन्हें मैच के साथ सीरीज भी गंवानी पड़ी. 5 टेस्ट मैचों की सीरीज में इंग्लैंड ने 3-1 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है. इस पूरी सीरीज में टीम इंडिया के ओपनर खिलाड़ी मुरली विजय कुछ खास नहीं कर पाए. लेकिन उन्होंने भरोस जताया कि वो वापसी करेंगे.

आईसीसी की वेबसाइट के मुताबिक विजय ने कहा, “मुझे पूरा विश्वास है, कि मैं भारत के लिए वापसी करूंगा और खेलूंगा. मैं इसके लिए काफी सकारात्मक हूं, मुझे रन बनाने के लिए सिर्फ कुछ चीजों को सुलझाना है और इसके लिए मैं मेहनत कर रहा हूं.”

चले थे भारतीय क्रिकेट को ‘आबाद’ करने, कर रहे हैं ‘बर्बाद’… और कितने झूठे दावे करेंगे रवि शास्त्री?

34 वर्षीय विजय ने कहा, “मुझे नहीं लगता यह मेरी उम्र के कारण हुआ है. वैसे भी यह मेरे साथ पहली बार नहीं हुआ है. उम्र केवल एक संख्या है. जब तक मेरे पैर क्रीज में चलेंगे और मेरी तकनीक काम करेगी, तब तक मैं खेलना जारी रखूंगा.”

टीम इंडिया के वो ‘5’ टेस्ट मैच जिसे विराट कोहली की कप्तानी में जीता जा सकता था

गौरतलब है कि शुरुआती दो टेस्ट मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद मुरली को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया गया. उन्होंने पहले मैच की पहली पारी में 20 रन और दूसरी पारी में 6 रन बनाए. इसके बाद दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में बिना रन बनाए आउट हो गए. जब कि दूसरी पारी में भी यही स्थिति रही. इसके बाद विजय को तीसरे और चौथे टेस्ट मुकाबले की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया.