नई दिल्ली: चेन्नई सुपरकिंग्स आईपीएल में 2 साल बाद वापसी कर रही है. वह आईपीएल 2018 में महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करने मैदान में उतरेगी. टीम के बेहतरीन खिलाड़ी मुरली विजय इस लीग में वापसी को लेकर बेताब हैं. उन्हें उम्मीद है कि वो इस सीजन में शानदार प्रदर्शन करेंगे. विजय को आईपीएल 2018 के लिए चेन्नई ने 2 करोड़ में खरीदा. उन्हें ऑक्शन के पहले दिन नहीं खरीदा गया था. इस वजह से उनके पास काउंटी क्रिकेट में खेलने का ऑफर मिला. Also Read - चीन से तनाव के बीच आर्मी की युद्ध क्षमता बढ़ाई जाएगी, 38 हज़ार करोड़ की लागत से हथियार खरीदेगी सरकार

Also Read - Sarkari Naukri 2020: Rajasthan Home Guard Recruitment 2020: 8वीं पास के लिए होम गार्ड के पदों पर निकली वैकेंसी, जल्द करें आवेदन

VIDEO: जब बोल्ट से भी तेज दौड़कर धोनी ने बांग्लादेश को बताई 1 रन की कीमत Also Read - कोविड-19 की दवा विकसित करने के लिए 'ड्रग डिस्कवरी हैकाथन' शुरू, देश में पहली बार हो रही ऐसी पहल

स्पोर्ट्स वेबसाइट क्रिकबज़ में छपी खबर के मुताबिक मुरली ने गुरुवार को कहा, जब मैं पहले दिन नहीं बिका तब मेरे पास काउंटी क्रिकेट खेलने के लिए कई ऑफर्स आए. लेकिन मुझे लगता है कि काउंटी क्रिकेट खेलने से पहले कई तरह की प्रक्रियाएं होती हैं. इसलिए इंतजार करना होगा और मैं इंग्लैंड दौरे से पहले निश्चित तौर काउंटी क्रिकेट में कुछ मैच खेलना चाहूंगा. यह मेरे लिए फायदेमंद साबित होगा.

IPL में इन गेंदबाजों के आगे बल्लेबाज पानी मांगते हैं !

विजय ने चेन्नई में वापसी को लेकर कहा, मैं आईपीएल में खेलने के पूरी तरह तैयार हूं. मेरे लिए यह अच्छी बात है कि आईपीएल से पहले मुझे खुद को तैयार करने का वक्त मिला. अब मैं चाहता हूं कि जल्दी ही 7 अप्रैल आ जाए. सीएसके के साथ वापसी करना मेरे लिए किसी सपने के पूरा होने जैसा है. मैं दबाव की स्थिति के लिए भी पूरी तरह तैयार हूं. मुझे उम्मीद है कि मैं टीम की जीत में अहम भूमिका निभाऊंगा.

कोहली की वजह से RCB को हुआ भारी नुकसान, दीपिका पादुकोण के साथ स्क्रीन शेयर करने से किया मना

मुरली आईपीएल में कई टीमों की तरफ से खेले चुके हैं. उन्होंने चेन्नई सुपरकिंग्स के अलावा किंग्स इलेवन पंजाब और दिल्ली डेयरडेविल्स अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया है. विजय ने आईपीएल 2010 और 2011 में शानदार प्रदर्शन करके चेन्नई की जीत में अहम भूमिका निभाई. उन्होंने 2010 में कुल 15 मुकाबले खेले थे, जिनमें 458 रन बनाए. विजय ने इस दौरान 1 शतक और 2 अर्धशतक जड़े.

आईपीएल 2011 में विजय ने कुल 16 मुकाबले खेले, जिनमें 434 रन बनाए. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 95 रन रहा. उन्होंने इस सीजन में 3 अर्धशतक जड़े. मुरली ने आईपीएल 2011 में 34 चौके और 20 छक्के जड़े थे. वहीं आईपीएल 2010 में 26 चौके और 11 छक्के जड़े थे.