लंबी बातचीत और समझौते के बाद बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान के दौरे के लिए हामी भर दी है। हालांकि टीम के सीनियर विकेटकीपर बल्लेबाज मुश्फिकुर रहीम ने पाकिस्तान जाने से इंकार कर दिया है। रहीम का कहना है कि उनका परिवार अब भी पाकिस्तान के सुरक्षा इंतजामों को लेकर डरा हुआ है।

रहीम ने गुरुवार को बीसीबी को अपने फैसले की जानकारी दी थी। शुक्रवार को बांग्लादेश प्रीमियर लीग के फाइनल मैच के दौरान रहीम ने पाकिस्तान ना जाने का कारण बताया। बीपीएल 2019-20 के फाइनल मैच में राजशाही रॉयल्स ने रहीम की टीम खुलना टाइगर्स को 21 रन से हराकर खिताबी जीत हासिल की। प्लेयर ऑफ द मैच रॉयल्स के कप्तान आंद्रे रसेल रहे, जिन्होंने 16 गेंदो पर 27 रन की पारी खेली के बाद दो विकेट भी झटके।

पाक दौरे पर ना जाने के कारण पर रहीम ने कहा, “मेरा परिवार पाकिस्तान की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डरा हुआ है। इस हालात में मैं पाकिस्तान जाकर वहां क्रिकेट नहीं खेल सकता। मेरे लिए बांग्लादेश की किसी भी सीरीज से बाहर बैठना मुश्किल होता है। पाकिस्तान में सुरक्षा इंतजाम काफी बेहतर हुए हैं लेकिन मैं अगले दो-तीन साल और इंतजार करना चाहूंगा। अगर मैं और टीमों को वहां जाते देखूंगा तो मुझे आत्मविश्वास मिलेगा।”

मुशफिकुर रहीम ने पाकिस्तान दौरे पर जाने से किया इंकार

बांग्लादेश टीम 24 जनवरी से पाकिस्तान दौरे की शुरुआत लाहौर में होने वाली तीन मैचों की टी20 सीरीज से करेगी, जो कि 27 तारीख तक चलेगी। 7-11 फरवरी तक दौरे का पहला टेस्ट खेला जाएगा। जिसके बाद टीम बांग्लादेश लौट आएगी। बांग्लादेश टीम 3 अप्रैल को होने वाले वनडे मैच के लिए पाकिस्तान लौटेगी और टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच 5-9 अप्रैल कराची में खेलेगी।

रहीम बांग्लादेश टीम के अकेले सदस्य नहीं हैं जिन्होंने पाक दौरे पर जाने से इंकार किया है। बांग्लादेश कोचिंग स्टाफ के पांच सदस्य, जिसमें गेंदबाज डेनियल वेटोरी, ट्रेनर मारियो विलवनारायण, फील्डिंग कोच रेयान कुक, बल्लेबाजी सलाहकार नील मैकेंजी और कंप्यूटर विश्लेषक श्रीनिवास चंद्रशेखरन ने भी बोर्ड को आधिकारिक तौर पर बता दिया है कि वो पाकिस्तान दौरे पर नहीं जाएंगे।