भारत-पाकिस्‍तान के बीच मौजूदा खराब रिश्‍तों के बीच पड़ोसी देश के पूर्व लेग स्पिनर मुश्‍ताक अहमद का एक बड़ा बयान सामने आया है. मुश्‍ताक अहमद का कहना है कि भारत-पाक के बीच कोई भी सीरीज एशेज सीरीज से भी काफी बड़ी है.

एशेज सीरीज इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच खेली जाती है. क्रिकेट की शुरुआत इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच सीरीज के साथ ही हुई थी. मुश्‍ताक अहमद ने कहा, “भारत-पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय संबंधों में सुधार करने के लिए दोनों देशों के बीच फिर से क्रिकेट शुरू होना चाहिए.”

पढ़ें:- बैन के बाद शानदार वापसी पर पृथ्‍वी शॉ ने दी प्रतिक्रिया, कहा- भारतीय टीम में…

न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत के दौरान कहा, “मेरा मानना है कि भारत-पाकिस्तान के बीच फिर से क्रिकेट संबंध शुरू होने चाहिए. क्रिकेट के जरिए दोनों देश अपने संबंधों को सुधार सकती है. क्रिकेट फैन्स के चेहरे पर प्यार, आनंद और खुशी लाती है.”

पाकिस्‍तानी खिलाड़ी ने कहा, “यह जरूरी है कि दोनों देश एक-दूसरे के खिलाफ क्रिकेट खेले. इस खेल से जुड़े फैन्स उन्हें फिर से खेलते देखना चाहते हैं. जब भी भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबला होता है तो फिर काफी प्रतिस्पर्धात्मक हो जाता है. मुझे लगता है कि एशेज से भी बड़ी है भारत-पाकिस्तान की सीरीज.”

पढ़ें:- Syed Mushtaq Ali Trophy: 8 महीने का बैन झेलने वाले पृथ्वी शॉ की अर्धशतकीय वापसी

बता दें कि साल 2013 के बाद से भारत और पाकिस्‍तान के बची कभी द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई है. हालांकि दोनों ही पड़ोसी देश आईसीसी के इवेंट और एशिया कप में एक दूसरे के खिलाफ जरूर खेलते हैं.

मुश्‍ताक अहमद ने कहा, “जब भारत और पाकिस्‍तान क्रिकेट खेलेंगे तो चीजें आसान हो जाएंगी. क्रिकेट एक ऐसी चीज है जो नेताओं को बातचीत करने और चीजों को सही रास्ते पर लाने का मौका देगा. इसलिए मेरा मानना है कि दोनों सरकारों के बीच बातचीत होनी जरूरी है.”

अहमद ने कहा, “दोनों देशों को बैठकर मौजूदा हालातों और अपनी समस्याओं पर चर्चा करनी चाहिए. करतारपुर कॉरिडोर का खुलना दोनों देशों के बीच एक अच्छी शुरूआत है. जब बातचीत होगी तो तभी चीजें हल हो सकती है और खेल, खासकर क्रिकेट इसमें बड़ी भूमिका निभा सकता है.”