BCCI-President-N-Srinivasan-arriving-at-Mumbai-airport-on-May-25-1 Also Read - शिल्पा शेट्टी कुंद्रा ने की बेटी की पहली कन्या पूजन, 8 लड़कियों के साथ निभाया रस्म, देखें VIDEO  

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 2013 संस्करण से जुड़े स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी मामले की जांच करने वाली सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित मुद्गल समिति ने बीसीसीआई अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन को क्लीन चिट दे दी है लेकिन उनके दामाद गुरुनाथ मयप्पन पर शिकंजा कस दिया है। सोमवार को जारी समिति की विस्तृत में कहा गया है कि श्रीनिवासन न तो सट्टेबाजी मामले में शामिल हैं और न ही स्पॉट फिक्सिंग में। Also Read - IPL 2020: ऐसे CSK में शामिल हुए MS Dhoni, टीम मालिक ने किया बड़ा खुलासा

रिपोर्ट में कहा गया है कि बीसीसीआई अधिकारी हालांकि श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन की हरकतों को लेकर अनभिज्ञ नहीं थे और न ही उन्होंने उसके खिलाफ कोई कदम ही उठाया। Also Read - सरोगेसी को लेकर शिल्पा शेट्टी ने किया खुलासा, इस बीमारी के कारण कई बार हुए थे मिसकैरेज

समिति ने हालांकि मयप्पन को स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों से मुक्त कर दिया लेकिन उसके मुताबिक मयप्पन सट्टेबाजी में संलिप्त रहे हैं।

समिति ने यह भी कहा कि राजस्थान रॉयल्स टीम के सहमालिक राज कुंद्रा लगातार सटोरियों के सम्पर्क में रहे हैं।

दरअसल यह मामला साल २०१३ के आइपीएल के दौरान सुर्ख़ियो में आया था। इस मामले में राजस्थान रॉयल के कई खिलाड़ियों को हिरासत में भी लिया गया था