भारतीय क्रिकेट टीम ने विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान पर जारी तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार का खेल खत्म होने तक 310 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही दक्षिण अफ्रीकी टीम के दो विकेट 32 रनों पर झटक लिए हैं। मेहमान टीम अभी भी लक्ष्य से 278 रन दूर है। स्टीयान वान जिल (5) और नाइटवॉचमैन इमरान ताहिर (8) पवेलियन लौट चुके हैं। दूसरे दिन स्टम्प्स तक हाशिम अमला (3) और डीन एल्गर (10) नाबाद लौटे। भारत की ओर से दूसरी पारी में रविचंद्रन अश्विन और अमित मिश्रा ने एक-एक सफलता हासिल की है। अश्विन इस मैच में अब तक छह विकेट ले चुके हैं।

यह लक्ष्य हासिल कर पाना दक्षिण अफ्रीका के लिए बहुत मुश्किल दिख रहा है क्योंकि एक तो नागपुर में विकेट जबरदस्त स्पिन ले रही है और दूसरा भारत में अब तक कोई भी टीम चौथी पारी में 300 रन बनाकर मैच नहीं जीत सकी है।इस मैच में दूसरे दिन कुल 20 विकेट गिरे, जो भारत में एक दिन में गिरे कुल विकेटों की लिहाज से एक रिकार्ड है। इससे पहले भारत में एक दिन में सबसे अधिक 19 विकेट गिरे थे। नागपुर में भारत और दक्षिण अफ्रीका ने 10-10 विकेट गंवाए।इससे पहले, भारत ने अपनी दूसरी पारी में 46.3 ओवरों का समना करते हुए 173 रन बनाए। उसने अपनी पहली पारी में 215 रन बनाने के बाद दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 79 रनों पर समेट दी थी। पहली पारी के आधार पर उसे 136 रनों की बढ़त मिली थी।

दूसरी पारी में भारत की ओर से शिखर धवन ने सबसे अधिक 39 रन बनाए। इसके अलावा चेतेश्वर पुजारा ने 31 और रोहित शर्मा ने 23 रन जोड़े। दक्षिण अफ्रीका की ओर से दूसरी पारी में इमरान ताहिर ने पांच विकेट लिए जबकि मोर्ने मोर्कल को तीन सफलता मिली।दूसरे दिन पहले सत्र में भारत ने रविचंद्रन अश्विन (32-5) और रवींद्र जडेजा (33-4) की शानदार फिरकी के दम पर दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 79 रनों पर समेट दी थी। भारत की ओर से अमित मिश्रा ने भी एक विकेट लिया। दक्षिण अफ्रीका की ओर से ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने सबसे अधिक 35 रन बनाए। यह भारत के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका का न्यूनतम स्कोर है। साल 2006 में जोहांसबर्ग में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 84 रनों पर समेट दिया था। साथ ही यह भारत के खिलाफ किसी भी टीम का न्यूनतम टेस्ट पारी स्कोर है। यह भी पढ़े – नागपुर टेस्ट : द. अफ्रीका के 2 विकेट झटक भारत मजबूत

मेहमान टीम ने पहले दिन स्टम्प्स तक 2 विकेट पर 11 रन बनाए थे। डीन एल्गर सात और हाशिम अमला खाता खोले बगैर नाबाद थे। पहले दिन कुल 12 विकेट गिरे थे। इनमें से 10 भारत के थे।दूसरे दिन के पहले ही ओवर की पाचंवीं गेंद पर अश्विन ने एल्गर को चलता कर भारत का खाता खोला। इसके बाद तो मानो ‘तू चल मैं आया’ का सिलसिला शुरू हो गया।एल्गर का विकेट 11 के कुल योग पर गिरा तो अमला (0) का विकेट 12, अब्राहम डिविलियर्स (0) की भी विकेट 12, फाफ दू प्लेसिस (10) का विकेट 35, डेन विलास (1) का विकेट 47 तथा साइमन हार्मर (13) का विकेट 66 के कुल योग पर गिरा।शुरुआती पांच विकेटों तक दहाई रनों की भी साझेदारी नहीं हो सकी। इसके बाद प्लेसिस और ड्यूमिनी के बीच छठे विकेट के लिए 23, विलास तथा ड्यूमिनी के बीच 12 तथा हार्मर व डयूमिनी के बीच 19 रनों की साझेदारी हुई।ड्यूमिनी का विकेट 76 के कुल यो पर गिरा जबकि अंतिम बल्लेबाज के तौर पर मोने मोर्कल (1) आउे हए। कागिसू राबाडा छह रनों पर नाबाद रहे। ड्यूमिनी ने 65 गेंदों पर एक चौका और दो छक्के लगाए।