भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) लगभग 9 महीने से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट से दूर हैं. धोनी ने अपना अंतिम मैच पिछले वर्ष आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था. इसके बाद से वह ब्रेक के तहत टीम इंडिया से बाहर हैं. इस दौरान धोनी के भविष्य पर भी सवाल उठने लगे हैं. ऐसे में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने शनिवार को कहा कि धोनी जैसा क्रिकेटर एक पीढ़ी में एक आता है और इसलिए उनपर ‘संन्यास का दबाव बनाने’ वालों को एहतियात बरतनी चाहिए. Also Read - धोनी ने शुरू की अगले IPL की तैयारी, बोले- अगले साल को ध्यान में रखकर बाकी 3 मैचों में युवाओं को मौका देंगे

वसीम जाफर ने ऑल टाइम मुंबई XI टीम का किया ऐलान, सुनील गावस्कर को बनाया कप्तान Also Read - IPL इतिहास में पहली बार प्ले ऑफ की दौड़ से लगभग बाहर हुई चेन्नई, मुंबई से मिली 10 विकेट की हार, ये रहे 5 बड़े कारण

‘भारत का यह पूर्व कप्तान अभी भी भारतीय क्रिकेट को बहुत कुछ दे सकता है’ Also Read - HIGHLIGHTS CSK vs MI: मुंबई ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 10 विकेट से रौंदा

हुसैन का मानना है कि भारत का यह पूर्व कप्तान अभी भी भारतीय क्रिकेट को बहुत कुछ दे सकता है. भारतीय मूल के नासिर हुसैन (Nasser Hussain) ने स्टार स्पोटर्स पर ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ शो में कहा, ‘धोनी के जाने के बाद उनके जैसा कोई नहीं मिलेगा. उनपर संन्यास का दबाव बनाना सही नहीं है. सिर्फ धोनी को पता है कि वह किस स्थिति में हैं. आखिर में चयनकर्ताओं को फैसला लेना है और खिलाड़ी मौका मिलने पर खेलते हैं.’

पिछले साल जुलाई में खेला था अंतिम मैच 

धोनी ने आखिरी बार जुलाई में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में खेला था. उसके बाद से उन्होंने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेला है. सुनील गावस्कर और कपिल देव जैसे पूर्व दिग्गजों ने साफ तौर पर कहा है कि इतने लंबे ब्रेक के बाद उनके लिए वापसी करना मुश्किल होगा.

लेकिन हुसैन उनकी राय से इत्तेफाक नहीं रखते. उन्होंने कहा, ‘क्या एमएस धोनी अभी भी भारतीय टीम को कुछ दे सकते हैं. मेरा मानना है कि बहुत कुछ.’ उन्होंने हालांकि स्वीकार किया कि विश्व कप के दौरान धोनी कुछ मौकों पर चूक गए जब वह पारी की रफ्तार नहीं बढ़ा सके.

कोरोना के खौफ सेे नहीं बल्कि इस वजह से पेड़ पर चढ़ने को मजबूर हुए ICC अंपायर अनिल चौधरी

गौरतलब है कि धोनी ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन के लिए अपनी तैयारी भी शुरू कर दी थी लेकिन कोविड-19 महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स को प्रैक्टिस कैंप स्थगित करना पड़ा. आईपीएल का आयोजन 29 मार्च से होना था लेकिन अब इसे 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है.