क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप को पांच दिनों से घटाकर चार दिन का करने का प्रस्‍ताव आईसीसी में रखा गया है. बताया गया है कि आईसीसी विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप से टेस्‍ट क्रिकेट को चार दिनों का करना चाहती है. इसी बीच ऑस्‍ट्रेलिया के ऑफ स्पिनर नाथन लियोल का बयान इस मामले पर आया है.

पढ़ें:- हार्दिक पांड्या ने एक्‍ट्रेस नताशा स्‍टेनकोविक संग की सगाई, देखें तस्‍वीरें

नाथन लियोन ने साफ किया कि वे टेस्‍ट क्रिकेट के दिन कम करने के प्रस्‍ताव से इत्‍तेफाक नहीं रखते हैं. क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू ने लियोन के हवाले से लिखा, “आप विश्व में सभी बड़े नामों और उन सर्वश्रेष्ठ टेस्ट मैचों को देख लें जिनका मैं हिस्सा रहा हूं, वह अधिकतर समय आखिरी दिन तक गए हैं.”

लियोन ने कहा है कि पांच दिन के टेस्ट मैच को हटाने का विचार बकवास है. “आप ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच 2014 में एडिलेड में हुए मैच को देखें. वो मैच पांचवें दिन के आखिरी आधे घंटे तक गया था. इसके बाद आप 2014 में केपटाउन में खेले गए मैच को भी देख लें जहां रयान हैरिस ने मोर्ने मोर्केल को तब आउट किया जब दो ओवर बचे थे. वो मैच आखिरी के 10 मिनट तक गया. मैं चार दिन के टेस्ट मैच का समर्थक नहीं हूं.”
पढ़ें:- भारत दौरे के लिए श्रीलंकाई टी20 टीम का ऐलान, बाहर हुआ ये चोटिल तेज गेंदबाज

नाथन लियोन ने कहा, “मुझे लगता है कि आपको ज्यादा मैच ड्रॉ मिलेंगे. पांचवां दिन अहम होता है. एक तो, मौसम भी कारण है. साथ ही आज के समय में विकेट फ्लैट रहते हैं तो बल्लेबाजों को ज्यादा खेलने का मौका मिलता है. आपको समय चाहिए होता है कि पिच टूटे और आप स्पिनरों को लेकर आओ. पांचवें दिन भी ऐसा होता है, मैं पूरी तरह से इसके खिलाफ हूं. मुझे उम्मीद है कि आईसीसी इस पर बात भी नहीं करेगी.

चार दिन के टेस्ट मैच में 98 ओवर एक दिन में फेंके जाएंगे जबकि पांच दिन के टेस्ट मैच में 90 ओवर एक दिन में फेंके जाते हैं.