नई दिल्ली। नवदीप सैनी को दिल्ली रणजी टीम में शामिल करने के लिए अपनी कप्तानी दांव पर लगाने और अधिकारियों से लोहा लेने वाले गौतम गंभीर ने सैनी के भारतीय टेस्ट टीम में शामिल होने के बाद पूर्व कप्तानों बिशन सिंह बेदी और सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान पर तीखा हमला बोला है. गौतम ने रोशनआरा मैदान पर दिसंबर 2013 में सैनी को टीम में शामिल करने के लिए चौहान से तीखी बहस की थी. उनका कहना था कि सैनी में भारत के लिए खेलने का माद्दा है और सीनियर क्रिकेटर होने के नाते उनकी जिम्मेदारी है कि उसकी मदद करें.

बेदी ने बताया था बाहरी खिलाड़ी

पने कैरियर में गंभीर की भूमिका के बारे में सोचकर भावुक हो जाता हूं: नवदीप सैनी

बिशन बेदी ने कहा था कि एक बाहरी खिलाड़ी दिल्ली टीम में कैसे आ सकता है. अपने परिवार के साथ यूरोप में छुट्टियां मना रहे गंभीर ने ट्वीट किया, ‘बाहरी’ नवदीप सैनी के भारतीय टीम में शामिल होने पर डीडीसीए के कुछ सदस्यों को मेरी सांत्वना. मुझे बताया गया है कि बेंगलुरु में काले आर्मबैंड 225 रुपये में मिल रहे हैं. सर, याद रखें कि नवदीप पहले भारतीय है और उसके बाद कहीं का मूल निवासी.

शमी की जगह सैनी को मौका

बता दें कि नवदीप सैनी को अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच में तेज गेंदबाज मो. शमी की जगह अब नवदीप सैनी को जगह मिल गई है. एनसीए बेंगलुरू में मो. शमी के फिटनेस टेस्ट में फेल होने के बाद सैनी को टेस्ट मैच में शामिल होने का मौका मिला. अफगानिस्तान का यह ऐतिहासिक पहला टेस्ट 14 जून से बेंगलुरु में रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज भारतीय टीम से होगा.

मो. शमी यो-यो टेस्ट में फेल, पहली बार इस तेज गेंदबाज को मिला टेस्ट में मौका

अपने चयन के लिए सैनी ने गौतम गंभीर का आभार जताया था. उन्होंने कहा था कि जब भी मैं सोचता हूं कि गंभीर भैया ने मेरी किस तरह मदद की थी, मैं भावुक हो जाता हूं.