नई दिल्ली: टीम इंडिया के पू्र्व कप्तान और महान गेंदबाज कपिल देव (Kapil Dev) को एक नई जिम्मेदारी सौंपी गई है. उन्हें हरियाणा के सोनीपत के राई में हरियाणा स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी (Haryana Sports University) का पहला चांसलर बनाया गया है. सोनीपत के राई में मोतीलाल नेहरू स्कूल ऑफ स्पोर्ड्स कैंपस में ही इस खेल यूनिवर्सिटी की स्थापना हुई है. कपिल के अलावा अब यूनिवर्सिटी के बाकी स्टाफ की नियुक्ति जल्द ही होगी जिसमें वाइस चांसलर भी शामिल होंगे. अभी तक किसी यूनिवर्सिटी के चांसलर यानि कुलाधिपति का पद प्रदेश के राज्यपाल को स्वतः मिल जाता था, लेकिन हरियाणा के पहले खेल विश्व विद्यालय की नियुक्ति के लिए हरियाणा सरकार ने कानून बदला है. हरियाणा सरकार ने पहली बार राज्यपाल की जगह खेल से जुड़े किसी व्यक्ति को इस पद पर नियुक्त किया है. राज्यपाल संरक्षक की भूमिका में बने रहेगे, जबकि उपकुलाधिपति की नियुक्ति अलग से होनी है.

हरियाणा सरकार के खेल और युवा मामलों के मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर यह जानकारी दी. हरियाणा सरकार ने पिछले महीने मानसून सत्र में प्रदेश की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना की थी. कपिल देव ने पिछले दिनों क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) के अध्यक्ष थे जिसने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का हाल ही में चयन किया था. इस समिति ने टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री को दोबारा इस पद पर नियुक्त किया था. इस समिति में कपिल देव कपिल देव के अलावा अंशुमान गायकवाड और शांता रंगास्वामी भी शामिल थे. कपिल देव के 1983 आईसीसी वनडे विश्व कप विजेता टीम इंडिया के कप्तान के तौर पर जाना जाता है. कपिल हरियाणा से आने वाले ऐसे क्रिकेटर थे जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई और प्रदेश के युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत बन गए थे.