कार्डिफ: मैट हेनरी और लॉकी फर्गुसन की घातक गेंदबाजी और सलामी जोड़ी की शानदार बल्लेबाजी से न्यूजीलैंड ने आईसीसी विश्व कप 2019 के अपने पहले मैच में शनिवार को यहां पूर्व चैंपियन श्रीलंका को 203 गेंद शेष रहते हुए दस विकेट से करारी शिकस्त दी. हेनरी (29 रन देकर तीन) ने शीर्ष क्रम झकझोरा तो फर्गुसन (22 रन देकर तीन) ने मध्यक्रम लड़खड़ाने में अहम भूमिका निभायी जिससे पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित श्रीलंका कप्तान दिमुथ करूणारत्ने के नाबाद 52 रन के बावजूद 29.2 ओवर में 136 रन पर ढेर हो गया.

अभ्यास मैच में भारत को हराने वाले न्यूजीलैंड ने केवल 16.1 ओवर में बिना किसी नुकसान के 137 रन बनाकर अपने अभियान का जोरदार आगाज किया. मार्टिन गुप्टिल (51 गेंदों पर नाबाद 73) और कोलिन मुनरो (47 गेंदों पर नाबाद 58) ने कीवी टीम को आसानी से लक्ष्य तक पहुंचाया. न्यूजीलैंड ने विश्व कप में रिकार्ड तीसरी बार दस विकेट से जीत दर्ज की. विश्व कप में बड़े स्कोर के कयास लगाये जा रहे हैं लेकिन टूर्नामेंट में यह लगातार दूसरा मैच है जिसमें 50 ओवर के अंदर ही मैच का परिणाम निकल आया. वेस्टइंडीज ने शुक्रवार को पाकिस्तान को 105 रन पर समेटकर सात विकेट से जीत दर्ज की थी. करूणारत्ने विश्व कप में रिडले जैकब्स (नाबाद 49, वेस्टइंडीज बनाम आस्ट्रेलिया, मैनचेस्टर 1999) के बाद पूर्ण पारी में शुरू से लेकर आखिर तक नाबाद रहने वाले दूसरे बल्लेबाज हैं. उनके अलावा श्रीलंका की तरफ से कुसाल परेरा (29) और तिसारा परेरा (27) ही दोहरे अंक में पहुंचे. पारी की सबसे बड़ी साझेदारी 52 रन की रही जो करूणारत्ने ने तिसारा के साथ सातवें विकेट के लिये निभायी.

जिस पिच पर श्रीलंकाई बल्लेबाज रन बनाने के लिये जूझते रहे उस पर गुप्टिल और मुनरो ने सहजता से रन बटोरे. ऐसा लग रहा था कि इन दोनों की श्रीलंकाई गेंदबाजों से नहीं बल्कि आपस में ही एक दूसरे के बीच आगे बढ़ने की प्रतिद्वंद्विता चल रही है. गुप्टिल ने लेसिथ मलिंगा पर दो चौकों से शुरुआत की जबकि मुनरो ने सुरंगा लखमल की लगातार गेंदों पर चौका और लांग आन पर छक्का लगाया. गुप्टिल ने इसुरू उडाना पर छक्का जड़कर 39 गेंदों पर अपने वनडे करियर का 35वां अर्धशतक पूरा किया. इससे न्यूजीलैंड का स्कोर भी 100 रन के पार पहुंचा. मुनरो ने इसके तुरंत बाद अपना आठवां अर्धशतक पूरा किया जिसके लिये उन्होंने 41 गेंदें खेली. गुप्टिल ने बाद तेजी दिखायी तथा अपनी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाये. मुनरो ने छह चौके और एक छक्का लगाया.

इससे पहले श्रीलंका के लिये शुरू से ही कुछ भी अनुकूल नहीं रहा. घसियाली पिच पर पहले वह टास गंवा बैठा. इसके बाद उसके मध्यक्रम के बल्लेबाजों को शुरू में ही नयी गेंद का सामना करना पड़ा और साफ दिख रहा था कि वह इसके लिये तैयार नहीं हैं. हेनरी ने दिन की दूसरी गेंद पर ही लाहिरू तिरिमाने (चार) को पगबाधा आउट कर दिया. हेनरी के पास नौवें ओवर में हैट्रिक बनाने का मौका था. कुसाल परेरा (29) ने उनकी गेंद पर हवा में कैच लहराया जबकि कुसाल मेंडिस ‘गोल्डन डक’ बने. मार्टिन गुप्टिल ने स्लिप में उनका बेहतरीन कैच लपका. विकेट गिरने का क्रम जारी रहा. फर्गुसन ने धनंजय डिसिल्वा को पगबाधा आउट किया. हेनरी ने लगातार सात ओवर किये और उनकी जगह गेंद संभालने वाले कोलिन डि ग्रैंडहोम (14 पर एक) ने अनुभवी एंजेलो मैथ्यूज (शून्य) को विकेट के पीछे कैच कराया जबकि जीवन मेंडिस (एक) ने फर्गुसन की गेंद पर गली में कैच दिया जिससे श्रीलंका का स्कोर छह विकेट पर 60 रन हो गया.

पारी के दोनों छक्के तिसारा परेरा ने ग्रैंडहोम और जेम्स नीशाम पर जमाये लेकिन वह भी टिककर खेलने में नाकाम रहे. तिसारा जब 18 रन पर थे तब उन्हें जीवनदान भी मिला लेकिन स्पिनर मिशेल सैंटनर (पांच पर एक) के सामने वह फिर से हवा में शाट खेल बैठे जिसे लांग आन पर खड़े ट्रैंट बोल्ट ने कैच कर दिया. करूणारत्ने ने बोल्ट की गेंद पर दो रन लेकर अपना तीसरा वनडे अर्धशतक पूरा किया. पारी के अंतिम क्षणों में नाटकीय मोड़ भी आया. करूणारत्ने ने पुल करके डीप स्क्वायर लेग पर सैंटनर को कैच दे दिया था. कैच की वैधता जानने के लिये तीसरे अंपायर की मदद ली गयी. रीप्ले से कुछ स्पष्ट नहीं हो रहा था और अंपायर ने बल्लेबाज के पक्ष में फैसला सुना दिया. फर्गुसन ने हालांकि अगली गेंद पर मलिंगा को बोल्ड करके श्रीलंका को इसका फायदा नहीं उठाने दिया.