वेलिंगटन. न्यूजीलैंड के कोच गैरी स्टीड ने आईसीसी विश्व कप नियमों की समीक्षा की मांग करते हुए कहा कि वह अजीबोगरीब तरीके से विश्व कप फाइनल में इंग्लैंड से मिली हार के बाद ‘काफी खोखला’ महसूस कर रहे हैं. निर्धारित ओवरों और सुपर ओवर के बाद भी स्कोर बराबर रहने के बाद चौकों-छक्कों की संख्या के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया. आपको बता दें कि न्यूजीलैंड ने लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए विश्व कप के फाइनल मैच में पहले खेलते हुए इंग्लैंड को 241 रनों का लक्ष्य दिया था. इस टार्गेट को इंग्लैंड की टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 10 विकेट खोकर पूरा तो कर लिया, लेकिन मैच टाई हो गया. इसके बाद सुपर ओवर कराया गया, वह भी टाई होने के बाद चौकों-छक्कों के आधार पर मैच का निर्णय लिया गया. सोशल मीडिया पर इसको लेकर इंटरनेट यूजर्स ने आईसीसी के नियमों की काफी आलोचना की है.

स्टीड ने पत्रकारों से कहा, ‘‘काफी खोखला महसूस कर रहा हूं क्योंकि 100 ओवर के बाद स्कोर बराबर रहने के बाद भी आप हार गए. लेकिन यह खेल की तकनीकी पेचीदगी है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यकीन है कि जब नियम लिखे जा रहे होंगे तो किसी ने नहीं सोचा होगा कि विश्व कप फाइनल ऐसा भी हो सकता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसकी जरूर समीक्षा होगी और वे कई तरीके तलाशेंगे.’’

कोच ने इस बात को खारिज किया कि बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर गए ओवरथ्रो पर इंग्लैंड को अतिरिक्त रन दिया गया. पूर्व अंपायर साइमन टोफेल ने कहा था कि बल्लेबाजों को पांच रन ही दिये जाने चाहिये थे. स्टीड ने कहा, ‘‘मुझे इस बारे में नहीं पता लेकिन अंपायर आखिर में फैसले लेने के लिये ही हैं. वे भी खिलाड़ियों की तरह इंसान है और कई बार गलती हो जाती है. यह खेल का मानवीय पहलू है.’’

(इनपुट – एजेंसी)