नई दिल्ली. भारत के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज के लिए न्यूजीलैंड ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है. वनडे सीरीज का पहला मुकाबला 23 जनवरी को नेपियर में खेला जाना है, जिसे जीतने के लिए कीवी टीम सुपरमैन ट्रिक पर फोकस कर रही है. उधर, ऑस्ट्रेलिया को रौंदकर न्यूजीलैंड पहुंची टीम इंडिया भी वहां की आबोहवा में ढलने की कोशिश करेगी. बहरहाल, बड़ा सवाल ये है कि न्यूजीलैंड की सुपरमैन ट्रिक आखिर है क्या और इस पर फोकस कर उसे जीत कैसे मिल सकती है. Also Read - SA vs ENG: द. अफ्रीका के सभी खिलाड़ी पाए गए Covid-19 नेगेटिव, अब इस तारीख से होगी वनडे सीरीज

Also Read - Pakistan vs Zimbabwe, 1st ODI: टेलर का शतक बेकार, आफरीदी के 'पंच' और वहाब के 'चौके' से पाकिस्तान ने जिम्बाब्वे को हराया

ऑस्ट्रेलिया से लिया सबक Also Read - England vs Ireland 2020, 1st ODI : डेविड विले की करियर बेस्ट गेंदबाजी के दम पर कोरोनाकाल के पहले वनडे में इंग्लैंड ने मारी बाजी

दरअसल, न्यूजीलैंड का ये जीत वाला सुपरमैन फॉर्मूला उसकी फील्डिंग से जुड़ा है, जो कि उसे ऑस्ट्रेलिया वाली गलती करने से बचाएगा. बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के भारत के खिलाफ वनडे सीरीज गंवाने के पीछे उसकी खराब फील्डिंग का बड़ा हाथ था. मेलबर्न में खेले सीरीज डिसाइडर में अगर उसने धोनी और विराट को 2-2 जीवनदान नहीं दिए होते. अब न्यूजीलैंड की टीम वैसी कोई भी गलती नहीं करना चाहती. लिहाजा, उसने अपने प्रैक्टिस की शुरुआत ही फील्डिंग के गुर को समझने और सीखने से की है.

न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया 23 जनवरी से खेलेगी वनडे सीरीज, पढ़ें क्या है पूरा शेड्यूल

‘सुपरमैन’ ट्रिक पर जोर

कीवी टीम जब नेपियर के मैदान पर प्रैक्टिस के लिए उतरी तो उसने सबसे पहले जेम्स पैमेंट और हेनरिक मलान के साथ मिलकर फील्डिंग को चुस्त दुरुस्त बनाने पर फोकस किया. कप्तान केन विलियम्सन और टीम के बाकी खिलाड़ी पैमेंट और मलान के बताए फील्डिंग के फंडे को काफी बारीकी से सुनते दिखे.

साफ है ऑस्ट्रेलिया की गलतियों से न्यूजीलैंड ने सबक लेने की पूरी कोशिश की है. लेकिन, भारतीय खिलाड़ी भी अपनी गलती दोहराने के लिए नहीं बल्कि उसे करेक्ट कर मैदान में उतरने के लिए जाने जाते हैं. ऐसे में कहीं ऐसा न हो कि मेजबान न्यूजीलैंड की सुपरमैन ट्रिक धरी की धरी रह जाए और घर भी उजड़ जाए. मतलब, भारत सीरीज ले उड़े.