भारत के खिलाफ ऑकलैंड के ईडन पार्क मैदान पर खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे मैच के दौरान चोटिल खिलाड़ियों से परेशान न्यूजीलैंड को अपने असिस्टेंट कोच ल्यूक रोंची को फील्डिंग के लिए उतरना पड़ा। Also Read - New Zealand Women vs Australia Women: तीसरे वनडे में जीत हासिल कर ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को क्लीन स्वीप किया

न्यूजीलैंड टीम के खिलाड़ी इस समय चोटों से जूझ रही हैं। यहां तक कि टीम के कप्तान केन विलियमसन भी कंधे की चोट के कारण टीम से बाहर हैं। जिस कारण भारत के खिलाफ टी20 सीरीज के आखिरी दो मैचों में टिम साउदी कप्तान करते नजर आए थे और अब वनडे सीरीज के लिए विकेटकीपर टॉम लेथम को कप्तान बनाया गया है। Also Read - ICC WTC Final: न्‍यूजीलैंड ने टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए किया टीम का ऐलान, भारत से होगी भिड़ंत

इसलीए टीम के असिस्टेंट कोच रोंकी को मैदान पर उतरना पड़ा। वो 37वें ओवर में टीम की जर्सी पहन कर मैदान पर आए। वैसे मिशेल सैंटनर या स्कॉट कुग्गेलेइजिन को मैदान पर चोटिल खिलाड़ी की जगह सब्स्टीट्यूट के तौर पर उतरना था लेकिन दोनों बुखार से पीड़ित थे, इसलिए रोंकी को जर्सी पहनी पड़ी। Also Read - COVID19 cases: New Zealand की पीएम ने भारत से आने वाले यात्र‍ियों समेत अपने नागरिकों की भी एंट्री रोकी

हालांकि खिलाड़ियों की कमी के बावजूद न्यूजीलैंड़ टीम तीन मैचों की वनडे सीरीज में भारत पर 2-0 की अजेय बढ़त लेने में सफल रही है।

पहले भी हो चुका है ऐसा

बता दें कि ये पहला मौका नहीं है जब किसी टीम के कोचिंग स्टाफ को मैदान पर फील्डिंग करने उतरना पड़ा हो। साल 2019 में हुए विश्व कप के दौरान इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए वार्म अप मैच के दौरान मेजबान टीम के दो खिलाड़ियों- मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर के चोटिल होने की स्थिति में 42 साल के सहायक कोच पॉल कॉलिंगवुड को फील्डिंग के लिए मैदान पर उतरना पड़ा था जो कि वुड की जर्सी पहनकर मैदान पर आए थे।