नई दिल्ली: लेग स्पिनर ईश सोढ़ी की संघर्षपूर्ण 168 गेंदों में नौ चौकों की मदद से खेली गई 56 रनों की पारी ने क्राइस्टचर्च ईडन पार्क मैदान पर खेले गए सीरीज के दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच के आखिरी दिन मंगलवार को इंग्लैंड से जीत छीन ली. न्यूजीलैंड को जीत के लिए 382 रनों का लक्ष्य मिला था. इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड के सात विकेट 219 रनों पर ही गिरा दिए थे, लेकिन इसके बाद सोढ़ी और नील वेग्नर (सात रन, 103 गेंद, 1 चौके) के बीच आठवें विकेट के लिए हुई 37 रनों की साझेदारी ने मैच ड्रॉ करा दिया. हालांकि इसमें टॉम लाथम (83) और कोलिन डी ग्रांडहोमे (56) पारियों की भी अहम योगदान रहा.

VIDEO: रैना ने खेली तूफानी पारी, IPL से पहले छक्के जड़कर दी चेतावनी

किवी टीम ने दिन की शुरुआत 42 रनों पर बिना किसी नुकसान से की थी. स्टुअर्ट ब्रॉड ने दिन की पहली ही गेंद पर जीत रावल (17) को मार्क स्टोनमैन के हाथों कैच कराया और फिर अगली ही गेंद पर केन विलियमसन को विकेट के पीछे जॉनी बेयर्सटो के हाथों कैच कराया.

यहां से किवी टीम के विकेटों का पतन शुरू हो गया. हालांकि लाथम एक छोर पर खड़े थे. रॉस टेलर (13), हेनरी निकोलस (13), बीजे वाटलिंग (19) विकेट पर पैर नहीं जमा सके. लाथम 162 के कुल स्कोर पर न्यूजीलैंड के छठे विकेट के रूप में पवेलियन लौटे. उन्होंने अपनी अर्धशतकीय पारी में 207 गेंदों का सामना किया और 10 चौके लगाए.

IPL से पहले धोनी का धाकड़ बयान, ‘पद्मभूषण ने 10 गुणा बढ़ा दिया हौसला’

यहां से ग्रांडहोमे और सोढ़ी ने टीम को संभाला और सातवें विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी की. मार्क वुड ने ग्रांडहोमे को अर्धशतक पूरा नहीं करने दिया. वह 219 के कुल स्कोर पर आउट हुए. फिर सोढ़ी और वेग्नर ने संघर्ष करते हुए मैच ड्रॉ करा दिया. वेग्नर मैच की आखिरी गेंद पर आउट हुए.

इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 307 रन बनाए थे. वहीं न्यूजीलैंड अपनी पहली पारी में 278 रन ही बना सकी थी. इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी नौ विकेट पर 352 रनों पर घोषित कर किवी टीम को 382 रनों का लक्ष्य दिया था.