कप्तान केन विलियमसन की शानदार पारी और रॉस टेलर के साथ उनकी अर्धशतकीय साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड ने भारत के खिलाफ वेलिंगटन टेस्ट के दूसरे दिन 5 विकेट पर 216 रन बनाए। दिन का खेल खत्म होने तक विकेटकीपर बल्लेबाज बीजे वॉटलिंग (14) और कॉलिन डी ग्रैंडहोम (4) क्रीज पर बने हुए थे। Also Read - विदेशों में जीत की आदत डालने के लिए करनी होगी काफी मेहनत: सुनील गावस्‍कर

दिन के खेल की शुरुआत भारतीय पारी के साथ हुई, जिसे कीवी गेंदबाज टिम साउदी और काइल जेमीसन ने मिलकर 165 रन पर समेट दिया। Also Read - धीमी पारियों पर चेतेश्‍वर पुजारा की खरी-खरी, 'मैं नहीं बन सकता सहवाग या वार्नर, आपको...'

पहली पारी में बल्लेबाजी करने आई कीवी टीम के लिए पहला सेशन न्यूजीलैंड के नाम रहा, जबकि दूसरा सेशन मिला जुला रहा। भारतीय तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने न्यूजीलैंड की सलामी जोड़ी को 30 ओवर के अंदर 73 रन के स्कोर पर पवेलियन वापस भेजा। जिसके बाद विलियमसन और टेलर ने मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। Also Read - "अजिंक्‍य रहाणे केवल क्रीज पर खड़ा ही रहना चाहता है तो सिक्‍योरिटी गार्ड को बुला ले, वो..."

केन विलियमसन-रॉस टेलर की साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड टिकी, टी तक का स्कोर 116/2

टी तक मात्र 2 विकेट पर 116 रन बनाने के बाद विलियमसन और टेलर ने 93 रन की शानदार साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड को 166 रन के स्कोर तक पहुंचाया। तीसरे सेशन में भी भारत को पहली सफलता इशांत ने दिलाई। 53वें ओवर में अर्धशतक से करीब पहुंच रहे टेलर स्लिप पर चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच आउट हुए।

टेलर 71 गेंदो पर 44 रन की पारी खेलकर पवेलियन लौटे। जिसके बाद 63वें ओवर में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने कप्तान विलियमसन को आउट कर भारत को बड़ी सफलता दिलाई, हालांकि विकेट का श्रेय रवींद्र जडेजा को जाना चाहिए जो कि बतौर सब फील्डर मैदान पर मौजूद थे। 153 रन पर 89 रन बना चुके विलियमसन ने शमी की हॉफ वॉली गेंद को कवर्स की तरफ खेल दिया लेकिन वहां मौजूद जडेजा ने मुश्किल लग रहे कैच को भी आसानी से पकड़ा और विपक्षी कप्तान को चलता किया।

165 रन पर सिमटी भारतीय पारी, जेमीसन-साउदी ने झटके 4-4 विकेट

दिन का आखिरी विकेट स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को मिला, जिन्होंने 70वें ओवर में हैनरी निकोलस (17) को स्लिप पर कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। 207 रन पर पांच विकेट गिरने के बाद वॉटलिंग और ग्रैंडहोम ने स्टंप तक कोई और विकेट नहीं गिरने दिया। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक कीवी टीम ने 51 रन की बढ़त हासिल कर ली है।