अपनी उछाल भरी गेंदों से भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करने वाले न्यूजीलैंड के डेब्यू कर रहे तेज गेंदबाज काइल जेमीसन की 44 रनों की अहम पारी के दम पर न्यूजीलैंड ने वेलिंगटन टेस्ट के तीसरे दिन 348 रन का स्कोर खड़ा कर भारत के लिए खिलाफ 183 रन की बढ़त हासिल की। भारत के लिए इशांत शर्मा ने पांच विकेट लिए। रविचंद्रन अश्विन के हिस्से तीन तो जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के हिस्से एक-एक सफलता आई। Also Read - मैक्‍कुलम ने टेलर के खिलाफ उगला जहर, 'वो मेरा बेस्‍ट फ्रेंड नहीं है, उसकी कप्‍तानी NZC का बुरा वक्‍त थी'

मैच के दूसरे दिन कीवी टीम ने भारत को पहली पारी में 165 रनों पर ढेर कर दिया था। तीसरे दिन रविवार को लंच तक कीवी टीम अपनी पहली पारी में 348 रनों पर ऑल आउट हो भारत पर मजबूत बढ़त लेने में सफल रही जिसमें उसके निचले क्रम का अहम योगदान रहा। Also Read - 'पहले सभी को चाहिए था आक्रामक कप्तान और अब चाहते हैं कि शांत रहे कोहली'

न्यूजीलैंड ने दिन की शुरुआत पांच विकेट के नुकसान पर 216 रनों के साथ की। बुमराह ने बीजे वाटलिंग (14) को इसी स्कोर पर पवेलियन लौटा कीवी टीम को दिन का पहला झटका दिया। इसके बाद इशांत ने टिम साउदी (6) को मोहम्मद शमी के हाथों कैच करा न्यूजीलैंड का स्कोर सात विकेट के नुकसान पर 225 रन कर दिया। Also Read - आक्रामक रवैए पर आलोचना झेल रहे कोहली के कोच ने कहा- कभी सीमा पार नहीं की

टिम साउदी की गेंद पर ‘गोल्डन डक’ के शिकार हुए आर अश्विन, वीडियो देखें

जिसके बाद लगा कि कीवी टीम अब जल्द ही ऑल आउट हो जाएगी, लेकिन जेमिसन, कॉलिन डी ग्रैंडहोम और ट्रेंट बोल्ट ने ऐसा नहीं होने दिया। पहले डी ग्रैंडहोम और जेमीसन ने आठवें विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी की।

अर्धशतक की ओर बढ़ रहे जेमीसन अश्विन की फिरकी में फंस कर छह रन से पचास का आंकड़ा हासिल करने से चूक गए। जेमीसन ने अपनी पारी में 45 गेंदों का सामना कर चार छक्के और एक चौका मारा।

अश्विन ने डी ग्रैंडहोम को भी अर्धशतक पूरा नहीं करने दिया। वो 43 के निजी स्कोर पर विकेटकीपर रिषभ पंत के हाथों लपके गए। उन्होंने 74 गेंदों का पारी में पांच चौके मारे। फिर बोल्ट ने 24 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्के की मदद से 34 रन बना कीवी टीम को 348 के कुल स्कोर तक पहुंचाया और यहीं इशांत का पांचवां शिकार बने। बोल्ट के आउट होते ही कीवी पारी का अंत हो गया।