गेंदबाजों टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारतीय टीम की दूसरी पारी को 191 पर समेट न्यूजीलैंड ने वेलिंगटन टेस्ट 10 विकेट से जीत लिया है। इसी के साथ कीवी टीम ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी 100वीं जीत दर्ज की और सीरीज में 1-0 की बढ़त भी हासिल की। Also Read - घर लौटने की टिकट के बंदोबस्त के लिए लोगों से पैसे मांग रहा है कीवी क्रिकेटर

न्यूजीलैंड के लिए साउदी ने सर्वाधिक पांच विकेट लिए। ट्रेंट बोल्ट ने चार सफलताएं हासिल कीं। वहीं कॉलिन डी ग्रैंडहोम के हिस्से एक विकेट आया। Also Read - न्यूजीलैंड में फंसे पूर्व कीवी क्रिकेटर को पत्नी की चिंता; बोले- ये वायरस उसकी जान ले सकता है

तीसरे दिन चार विकेट खोकर 144 रन बनाने के बाद चौथे दिन भी भारतीय बल्लेबाजों का संघर्ष जारी रहा। पहली पारी में 165 रन बनाने वाली भारतीय टीम दूसरी पारी में 191 रन पर आउट हुए जिसके बाद मेजबान के सामने जीत के लिए मात्र 9 रन का लक्ष्य था। जिसे कीवी टीम ने मात्र 2 ओवर में हासिल कर मैच पर कब्जा किया। टॉम लेथम सात और टॉम ब्लंडेल दो रन बनाकर नाबाद रहे। Also Read - ON THIS DAY IN 2015: मार्टिन गुपटिल ने खेली थी वर्ल्ड कप की सबसे बड़ी पारी, रोहित शर्मा का रिकॉर्ड टूटने से बाल-बाल बचा

स्कॉट स्टाइरिस: मयंक अग्रवाल ने भारतीय बल्‍लेबाजों को NZ में खेलने की तकनीक समझाई

भारत ने दिन की शुरुआत चार विकेट के नुकसान पर 144 रनों के साथ की। टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी उपकप्तान अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी पर थी। ये दोनों तीसरे दिन क्रमश: 25 और 15 रन बनाकर नाबाद लौटे थे।

टीम के खाते में तीन रन ही जुड़े थे कि विहारी पवेलियन लौट लिए। विहारी को टिम साउदी ने बोल्ड किया। रविचंद्रन अश्विन भी साउदी का शिकार बने। साउदी ने चार रन बनाने वाले अश्विन को 162 रनों पर आउट किया। इशांत शर्मा ने विकेट पर खड़े होकर रहाणे का साथ देने की कोशिश की लेकिन अपनी पारी की 21वीं गेंद पर ही वे कॉलिन डी ग्रैंडहोम का शिकार हो गए। उन्होंने दो चौकों की मदद से 12 रन बनाए।

IPL 2020: सबसे महंगे खिलाड़ी ने बताई KKR के लिए आगामी सीजन की रणनीति

जिसके बाद रहाणे बोल्ट की ऑफ स्टम्प के बाहर की गेंद पर विकेटकीपर बीजे वाटलिंग के हाथों कैच आउट हुए। रहाणे ने 75 गेंदों का सामना कर 29 रन बनाए। रिषभ पंत की 25 रनों की पारी का अंत साउदी ने 191 के कुल स्कोर पर किया और साउदी ने ही तीन गेंद बाद जसप्रीत बुमराह को पवेलियन भेज भारत को ऑल आउट कर दिया।

इस पारी में भारत के लिए कोई रन बना सका था तो वो रहे मयंक अग्रवाल। मयंक ने 99 गेंदों पर सात चौके और एक छक्के की मदद से 58 रनों की पारी खेली। वह तीसरे दिन ही पवेलियन लौट चुके थे। मयंक ने पहली पारी में संयम से खेलते हुए 34 रन बनाए थे।