नई दिल्ली : टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन के दम पर न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में 3-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है. अब वह चौथा मुकाबला गुरुवार को सेडन मार्क मैदान पर खेलेगी. इस मुकाबले में भारतीय टीम की सोच निश्चित तौर पर जीत हासिल करना होगा, जिससे सीरीज में 5-0 से जीत हासिल कर सकें. वहीं अपने घर में बेहतरीन रिकॉर्ड के बावजूद बीते तीन मैचों में कमजोर नजर आने वाली न्यूजीलैंड की कोशिश बाकी के बचे दोनों मैच जीत सीरीज का अच्छा अंत करने की होगी.

भारत को इस मैच में नियमित कप्तान और टीम के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली के बिना उतरना होगा. उन्हें सीरीज के बचे दोनों मैचों में और टी-20 सीरीज से आराम दिया गया है. उनके स्थान पर रोहित शर्मा टीम की कप्तानी करेंगे. यह रोहित के करियर का 200वां वनडे मैच होगा.

कोहली की गैरमौजूदगी में टीम प्रबंधन युवा बल्लेबाज शुभमन गिल को मौका दे सकता है. गिल को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम में शामिल किया गया था. लोकेश राहुल के प्रतिबंधित होने के कारण गिल को टीम में जगह मिली थी. पंजाब के इस युवा बल्लेबाज ने हालांकि अभी तक पदार्पण नहीं किया है. कोहली के जाने से उम्मीद है कि टीम प्रबंधन उन्हें आजमा ले. गिल ने न्यूजीलैंड में ही बीते साल इसी समय शानदार बल्लेबाजी कर भारत की अंडर-19 टीम को विश्व कप दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी.

INDvsNZ: भारत की प्लेइंग इलेवन में बदलाव संभव, इस खिलाड़ी को मिलेगा मौका

इसके अलावा एक और बदलाव की उम्मीद की जा सकती है. अगर महेंद्र सिंह धोनी की चोट ठीक हो गई हो तो. धोनी तीसरे मैच में मांसपेशियों में खिंचाव के कारण नहीं खेले थे. उनकी चोट पर हालांकि अभी तक संशय बना हुआ है. अगर धोनी ठीक नहीं होते हैं तो एक बार फिर विकेट के पीछ दिनेश कार्तिक दिखेंगे, लेकिन अगर धोनी ठीक हो जाते हैं तो कार्तिक को बाहर जाना पड़ सकता है.

कोहली की गैरमौजूदगी में टीम की बल्लेबाजी का भार रोहित पर होगा. शिखर धवन का बल्ला भी इस सीरीज में रन कर रहा है. मध्यक्रम में अंबाती रायडू की फॉर्म थोड़ा परेशानी का सबब है. वहीं केदार जाधव ने इस सीरीज में अपने आप को साबित किया है.

गेंदबाजी में एक बार फिर भारत की स्पिन जोड़ी-कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल किवी टीम के लिए परेशानियां खड़ी कर सकती हैं. इन दोनों ने बीती गई सीरीजों में विपक्षी टीम के मध्य क्रम को टिकने नहीं दिया. तेज गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी से शुरुआती सफलताओं की उम्मीद होगी. यह दोनों इस काम को अभी तक बखूबी अंजाम देते आए हैं. हार्दिक पांड्या के रूप में भारत के पास तीसरे तेज गेंदबाज का विकल्प है. उनकी वापसी से टीम को संतुलन मिला है.

मैच फिक्सिंग पर श्रीसंत का बयान, पुलिस टॉर्चर स्वीकार किया गुनाह

वहीं, किवी टीम की बात की जाए तो घर में मजबूत मानी जाने वाली यह टीम अभी तक सिर्फ कमजोर ही नजर आई है. उसके तीन मुख्य बल्लेबाज रॉस टेलर, मार्टिन गुप्टिल और केन विलियमसन टीम को सफलता दिलाने में नाकामयाब रहे हैं. टेलर ने पिछले मैच में जरूर 93 रन बनाए थे. टॉम लाथम ने उनका अच्छा साथ देते हुए 51 रनों की पारियां खेली थीं. लेकिन इन दोनों के बिना कोई और बल्लेबाज टीम के स्कोरबोर्ड में अच्छा योगदा नहीं दे सका था.

किवी टीम के लिए सबसे बड़ी चिंता गुप्टिल और कोलिन मुनरो के बल्ले का शांत रहना है. यह दोनों टीम की बल्लेबाजी की धुरी हैं लेकिन अभी तक पूरी तरह से विफल रहे हैं. किवी टीम ने हालांकि बाकी के दो मैचों के लिए टीम में बदलाव किए हैं. टीम में जेम्स नीशाम और टॉड एस्ले को टीम में चुना गया है. इन दोनों को डग ब्रैसवेल और ईश सोढ़ी के स्थान पर टीम में लाया गया. ऐसे में किवी टीम की अंतिम एकादश में बदलाव संभव है. किवी टीम ट्रैंट बोल्ट और लॉकी फर्गूसन पर अहम जिम्मेदारी होगी.

टीमें (सम्भावित) :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप-कप्तान), महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, अंबाती रायडू, शिखर धवन, दिनेश कार्तिक, शुभमन गिल, विजय शंकर, हार्दिक पांड्या, खलील अहमद, युजवेंद्र चहल, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज.

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), ट्रैंट बोल्ट, जेम्स नीशम, कोलिन डी ग्रांडहोम, लॉकी फर्गूसन, मार्टिन गुप्टिल, मैट हेनरी, टॉम लाथम (विकेटकीपर), कोलिन मुनरो, हेनरी निकोलस, मिशेल सैंटनर, टॉड एस्ले, टिम साउदी, रॉस टेलर.