नई दिल्ली : चुनौतीपूर्ण हालात में चतुराई भरी स्विंग गेंदबाजी के सामने चकमा खाने वाली भारतीय टीम महेंद्र सिंह धोनी की वापसी के बाद बढे हुए आत्मविश्वास के साथ न्यूजीलैंड को पांचवें और आखिरी वनडे मैच में हराकर जीत के साथ वनडे सीरीज खत्म करना चाहेगी. भारत के सबसे अनुभवी वनडे खिलाड़ी धोनी मांसपेशी में चोट के कारण पिछले दो मैच नहीं खेल सके. चौथे वनडे में भारतीय टीम के 92 रन पर सिमटने के बाद अब आखिरी मैच में उनकी वापसी से खिलाड़ियों का मनोबल बढेगा.

वैसे बेसिन रिजर्व पर तेज हवाओं के बीच हालात उतने अनुकूल नहीं होंगे. धोनी के आने से मध्यक्रम को मजबूती मिलेगी जो कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में कमजोर लग रहा है. सहायक कोच संजय बांगड़ ने इसकी पुष्टि की कि धोनी यह मैच खेलेंगे. विश्व कप की तैयारियों को ध्यान में रखते हुए युवा शुभमान गिल को प्लेइंग इलेवन में जगह मिल सकती है.

हैमिल्टन में अंबाती रायडू, केदार जाधव और दिनेश कार्तिक नाकाम रहे. ऐसे में रोहित शर्मा और शिखर धवन के जल्दी आउट होने पर और कोहली की गैर मौजूदगी में उन पर पूरी तरह से भरोसा नहीं किया जा सकता. तीन मैचों की टी-20 सीरीज से पहले भारत को अपनी कमजोरियों से पार पाना होगा चूंकि विश्व कप भी करीब है. इंग्लैंड में भी इस तरह के हालात होंगे जहां स्विंग गेंदबाजों को मदद मिलेगी.

न्यूजीलैंड को बड़ा झटका, भारत के खिलाफ 5वें वनडे से पहले दिग्गज खिलाड़ी हुआ चोटिल

रोहित इसे अब तक के बदतरीन बल्लेबाजी प्रदर्शन में से एक कह चुके हैं और उनसे शिखर धवन के साथ टीम को अच्छी शुरूआत देने की उम्मीद होगी. निलंबन से लौटे हार्दिक पांड्या अच्छा प्रदर्शन बरकरार रखना चाहेंगे. यह देखना होगा कि भुवनेश्वर कुमार को आराम देने के बाद मोहम्मद शमी की वापसी होती है या नहीं. टीम प्रबंधन मोहम्मद सिराज को आजमाना चाहेगा क्योंकि खलील अहमद पिछले मैच में प्रभावी नहीं रहे.

सीरीज भारत पहले ही जीत चुका है लेकिन न्यूजीलैंड लगातार दूसरी जीत दर्ज करके टी-20 सीरीज में बढे हुए हौसलों के साथ उतरना चाहेगी. चौथे वनडे में कोलिन मुनरो की जगह उतरे सलामी बल्लेबाज हेनरी निकोल्स ने नाबाद 30 रन बनाये जबकि रोस टेलर ने पिछली दो पारियों में 93 और नाबाद 37 रन जोड़े. न्यूजीलैंड को अनुभवी सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल की कमी खलेगी जो कमर की चोट के कारण बाहर हैं. गेंदबाजी में ट्रेंट बोल्ट ने पांच विकेट लिये जबकि कोलिन डे ग्रांडहोमे ने तीन विकेट चटकाये.

प्रवीण कुमार ने बताई भारतीय गेंदबाजों के सफल होने की वजह

टीमें :
भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, अंबाती रायुडू, महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, विजय शंकर, शुभमन गिल, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद सिराज, खलील अहमद, रविंद्र जडेजा और हार्दिक पंड्या.

न्यूजीलैंड : केन विलियमसन (कप्तान), रोस टेलर, टाम लैथम, मार्टिन गुप्टिल, कोलिन डि ग्रैंडहोम, ट्रेंट बोल्ट, हेनरी निकोल्स, टाड एस्टल, लोकी फग्युर्सन, मैट हेनरी, कोलिन मुनरो, जिम्मी नीशाम, मिशेल सेंटनर और टिम साउथी.