New Zealand vs Pakistan, 1st Test: पाकिस्तान क्रिकेट टीम सीरीज के पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन फॉलोऑन बचाने में सफल रही.  इसका श्रेय कप्तान मोहम्मद रिजवान (Mohammad Rizwan) और फहीम अशरफ (Faheem Ashraf) को जाता है जिन्होंने टॉप ऑर्डर लड़खड़ाने के बाद पारी को संभाला.  वर्षा से प्रभावित तीसरे दिन पाकिस्तान की पहली पारी 239 रन पर सिमट गई. Also Read - पाकिस्तान को हरा न्यूजीलैंड बनी शीर्ष टेस्ट टीम; जानें किस तरह नंबर-1 पर वापसी कर सकती है टीम इंडिया

न्यूजीलैंड ने कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) के 129 रन की पारी के दम पर पहली पारी में 431 रन बनाए थे और इस तरह से उसे 192 रन की बढ़त हासिल हुई.  रिजवान ने तब क्रीज पर कदम रखा जब पाकिस्तान ने सुबह 32 रन के अंदर चार विकेट गंवा दिए थे और उसका स्कोर पांच विकेट पर 52 रन था.  वह टीम को सम्मानजनक स्थिति में पहुंचाने के बाद अंतिम सत्र में आउट हुए. Also Read - NZ vs PAK: Kane williamson का विराट फॉर्म जारी, दोहरा शतक जड़ पाकिस्तान के छुड़ाए पसीने

अपने टेस्ट करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले फहीम आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे.  उन्होंने अपनी पारी में 15 चौके और एक छक्का लगाया जिससे पाकिस्तान फॉलोऑन बचाने में सफल रहा. Also Read - Match Highlights NZ vs PAK, 2nd Test, Day 2: केन विलियमसन और हेनरी निकोल्स के दम पर न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान को दिया करारा जवाब

फहीम ने और रिजवान ने सातवें विकेट के लिये 106 रन की साझेदारी की.  रिजवान के रन आउट होने से यह साझेदारी टूटी.  न्यूजीलैंड ने सुबह आबिद अली (25), मोहम्मद अब्बास (पांच), अजहर अली (पांच) और हारिस सोहेल (तीन) के विकेट लेकर मैच पर शिकंजा कस दिया था.

पाकिस्तान ने सुबह एक विकेट पर 30 रन से आगे खेलना शुरू किया.  उसने पहले सत्र में 26 ओवरों में केवल 32 रन बनाये और इस बीच चार विकेट गंवाए.

मोहम्मद अब्बास ने शुरू में गेंदबाजों को परेशान किया.  उन्होंने नाइटवाचमैन की अपनी भूमिका अच्छी तरह से निभाते हुए 37 गेंदों का सामना करके अपना खाता खोला.  न्यूजीलैंड ने 31वें ओवर में पहली बार बायें हाथ के स्पिनर मिशेल सैंटनर को गेंद सौंपी.

लेकिन वह तेज गेंदबाज काइल जेमीसन थे जिन्होंने दिन की पहली सफलता दिलाई.  उन्होंने फुललेंथ गेंद पर आबिद अली को बोल्ड किया.  केन विलियमसन ने इसके तुरंत बाद ट्रेंट बोल्ट को गेंद सौंपी जिन्होंने अब्बास को स्लिप में रोस टेलर के हाथों कैच करा दिया.

अजहर अली (Azhar Ali) ने टिम साउदी की गेंद पर विकेटकीपर बीजे वॉटलिंग (BJ Watling) को कैच दिया.  इसके बाद उन्होंने हारिस सोहेल को भी नहीं टिकने दिया.  फवाद आलम (नौ) दूसरे सत्र में पवेलियन लौटे.  नील वैगनर ने उन्हें विकेट के पीछे कैच कराया.