New-Zealand-vs-South-Africa01 Also Read - घर लौटने की टिकट के बंदोबस्त के लिए लोगों से पैसे मांग रहा है कीवी क्रिकेटर

आईसीसी विश्व कप २०१५  अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुका है, मंगलवार को दो कद्दावर टीम न्यूज़ीलैंड और दक्षिण अफ्रिका पहले सेमीफाइनल मुकाबले में भिड़ेंगे। इस मैच पर करोडो क्रिकेट प्रशंसको की नज़र हैं। दोनों ही टीम बेहद बेहतरीन फॉर्म में हैं और कभी भी मैच का रुख बदलने की ताकत रखती हैं। दक्षिण अफ्रिका जिन्हें हमेशा से ही विश्वकप जीतने का दावेदार माना जारहा था उन्होंने विश्व कप में ज़्यादा निराश नहीं किया हैं। वही न्यूज़ीलैंड ने तो सभी को चौकाकर ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को धुल चटाई हैं। Also Read - न्यूजीलैंड में फंसे पूर्व कीवी क्रिकेटर को पत्नी की चिंता; बोले- ये वायरस उसकी जान ले सकता है

दोनों ही टीम ने अब तक कोई खिताब नहीं जीता हैं। दोनों ही टीम इस बार इस खिताब को अपने नाम करना चाहेगी। क्वार्टरफाइनल मुकाबले में दक्षिण अफ्रिका ने श्रीलंका पर शानदार जीत दर्ज की थी तो वही न्यूज़ीलैंड ने तो वेस्टइंडीज को चारो खाने चित किया। न्यूज़ीलैंड और दक्षिण अफ्रिका दोनों जी टीम कभी भी सेमिफिनल के आगे नहीं जा पायी है। Also Read - ON THIS DAY IN 2015: मार्टिन गुपटिल ने खेली थी वर्ल्ड कप की सबसे बड़ी पारी, रोहित शर्मा का रिकॉर्ड टूटने से बाल-बाल बचा

न्यूज़ीलैंड के जीत के साथ ही सेमीफाइनल लाइनअप हुआ तय

आइये देखते है विश्वकप के सेमिफिनल में दोनों टीम का सफ़र

न्यूज़ीलैंड

१९७५ विश्व कप: वेस्टइंडीज ने ५ विकेट से हराया
लंदन के ओवल मैदान में खेले गए इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूज़ीलैंड की पूरी पारी १५८ रनों पर सिमट गयी थी। करेबियन तेज़ गेंदबाजों के सामने सभी बल्लेबाजों ने अपने घुटने टेक दिए जिसके बाद कालीचरण और ग्रीनेज ने वेस्टइंडीज को जीत दिलाई।

१९७९ विश्व कप: इंग्लैंड ने ९ रनों से हराया
मेनचेस्टर के मैदान में खेले गए इस मुकाबले में मेज़बान इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए २२१ रन बनाए, न्यूज़ीलैंड की टीम ने उन्हें कडा मुकाबला भी दिया मगर अंत में ९ रनों से चुक गए। इस मैच में जॉन राइट ने सर्वाधिक ६९ रन ठोके थे।

१९९२ विश्वकप: पाकिस्तान ने ४ विकेट से हराया
पहली बार अपने घरेलु मैदान में विश्व कप खेल रही न्यूज़ीलैंड की टीम ने उस वक्त टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन किया था मगर मार्टिन क्रो की टीम का विजय रथ इमरान खान ने सेमिफिनल में रोख कर करोडो न्यूज़ीलैंड फैन्स का दिल तोड़ दिया था।

१९९९ विश्व कप: पाकिस्तान ने ९ विकेट से दी मात
१९९९ में एक बार फिर पकिस्तान ने न्यूज़ीलैंड के विश्व कप जीतने के मंसूबो पर पानी फेरा। इस मैच में पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज़ सईद अनवर ने ११३ रनों की यादगार पारी खेलकर न्यूज़ीलैंड के २४१ रनों का लक्ष, मामूली सा कर दिया।

२००७ विश्व कप: श्रीलंका के हाथो ८१ रनों से मिली हार
वेस्टइंडीज के सबीना पार्क मैदान पर पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंकाई टीम ने जयवर्दने के शतक की बदौलत २८९ रन बनाए। जवाब में फ्लेमिंग की टीम कोई मुकाबला ही नहीं कर सकी और पूरी टीम ४१ ओवर में २०८ पर ऑल-आउट होगई।

२०११ विश्व कप: श्रीलंका ने ५ विकेट से हराया  
श्रीलंका के प्रेमदासा मैदान पर खेला गया यह मैच न्यूज़ीलैंड बल्लेबाजों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं था। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम के पास श्रीलंकाई स्पिन गेंदबाजों का कोई जवाब नहीं था। पूरी टीम २१६ रनों पर सिमट गयी जिसे फिर लंका ने ५ विकेट गवा कर बना लिया।
दक्षिण अफ्रिका  

१९९२ विश्व कप: इंग्लैंड ने १९ रनों से हराया
पहली बार विश्व कप खेल रही दक्षिण अफ़्रीकी टीम इस मैच में काफी बदकिस्मत रही। मैच के दौरान बारिश हुई जिसके बाद १३ बॉल में २२ रन वाले लक्ष्य को १ बॉल में २२ रन कर दिया गया।

१९९९ विश्व कप: ऑस्ट्रेलिया के साथ मैच टाई
इस मैच को कोई क्रिकेट प्रेमी कभी नहीं भूल सकता हैं। पहली बैटिंग कर ऑस्ट्रेलिया ने 213 रन बनाए थे जिसके जवाब में लांस क्लूसनर ने शानदार पारी खेलते हुए दक्षिण अफ्रिका को ऑस्ट्रेलिया के स्कोर  तक पहुचाया मगर उसके आगे नहीं ले जा सके जिसकी वजह से ऑस्ट्रेलिया को रन रेट के सहारे फाइनल में जाने का मौक़ा मिला।

२००७ विश्व कप: ऑस्ट्रेलिया ने ७ विकेट से हराया
शौन टेट और मैकग्राथ के शानदार गेंदबाजी की वजह से दक्षिण अफ़्रीकी टीम महज़ १४९ रनों पर ही ऑल-आउट होगई। ऑस्ट्रेलिया ने जवाब में सिर्फ ३ विकेट गवा कर लक्ष्य को हासील किया।